बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने कहा कि विश्व कप के बाद टी20 कप्तानी छोड़ने का फैसला विराट कोहली (Virat Kohli) का था। क्रिकेट बोर्ड ने उन पर कोई दबाव नहीं डाला था। गांगुली ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में यह बात कहीं। उन्होंने कहा कि मैं विराट के फैसले से हैरान था। सौरव ने कहा कि हमने न तो उससे बात की और न कोई दबाल डाला। मैं एक खिलाड़ी रहा हूं। ऐसी बात कभी नहीं करूंगा।

इतने लंबे समय तक कप्तानी करना मुश्किल

उन्होंने विराट कोहली के फैसले के पीछे की वजह भी बताई। कहा कि अभी और खेल हैं, इतने लंबे समय तक सभी प्रारूपों में कप्तानी करना मुश्किल है। मैं खुद कप्तान रहा हूं। सौरव ने कहा कि यह बाहर से अच्छा लगता है कि आप अपने देश का नेतृत्व कर रहे हैं। बहुत प्रसिद्धि और सम्मान मिलता है, लेकिन आंतरिक रूप से खिलाड़ी को मानसिक और शारीरिक रूप से खुद से लड़ना होता है।

धोनी को मेंटर बनाने पर कहा

विराट कोहली के पिछले दो साल में एक भी अंतरराष्ट्रीय शतक नहीं बनाने पर गांगुली ने कहा कि कोई भी महान खिलाड़ी जो लंबे समय तक खेलता है, इस दौर से गुजरता है। उन्होंने कहा कि विराट इंसान है कोई मशीन नहीं। बीसीसीआई अध्यक्ष ने एमएस धोनी को टीम मेंटर बनाने पर कहा कि इसमें कुछ भी गलत नहीं है, क्योंकि उन्होंने तीन आईसीसी ट्रॉफी जीती हैं।

Posted By: Navodit Saktawat