नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का आयोजन अगले वर्ष भारत के बाहर हो सकता है। यह बदलाव 2019 में भारत में होने वाले आम चुनावों के मद्देनजर हो सकता है। 2009 में आईपीएल का आयोजन दक्षिण अफ्रीका में किया गया था और अगले वर्ष भी इसके दक्षिण अफ्रीका में ही आयोजित किए जाने की संभावना है।

अभी कुछ भी तय नहीं है कि लेकिन बीसीसीआई ने पहले ही इस दिशा में रुपरेखा बनानी शुरू कर दी है। यदि आम चुनाव जल्दी नहीं हुए तो इनके अगले वर्ष अप्रैल-मई में होने की संभावना है। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार यदि ऐसा हुआ तो बीसीसीआई के पास दो विकल्प ही बचेंगे। उसे पूरा आईपीएल भारत के बाहर कराना होगा, इस स्थिति में दक्षिण अफ्रीका पहली पसंद रहेगा। द. अफ्रीका 2009 में इस लीग का आयो‍जन कर चुका है, इसलिए उसे इसका अनुभव है। यदि बीसीसीआई आईपीएल के कुछ मैचों को बाहर के बाहर कराना चाहेगा तो 2014 की तरह इस स्थिति में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) को इस लीग के कुछ हिस्से की मेजबानी मिलना तय दिख रहा है।

अगला वनडे विश्व कप 30 मई 2019 से इंग्लैंड में होना है। बीसीसीआई द्वारा नियुक्त लोड़ा समिति की सिफारिशों के अनुसार आईपीएल और विश्व कप के बीच 15 दिनों का अंतर होना चाहिए। वैसे भी आईसीसी के दिशा-निर्देशों के अनुसार प्रतियोगी टीम को 2 सप्ताह पहले इंग्लैंड पहुंचना होगा। इसके मद्देनजर 2019 में आईपीएल को जल्दी आयोजित करवाना होगा। बीसीसीआई को इसे 15-20 दिन पहले शुरू करना होगा। इसके चलते इसकी शुरुआत 15 से 20 मार्च के बीच होगी, यदि ऐसा हुआ तो पूरे आईपीएल को शिफ्ट करने की बजाए इसका कुछ हिस्सा शिफ्ट किया जा सकता है। इस स्थिति में यूएई को फिर कुछ मैचों की मेजबानी मिल जाएगी।