South Africa और Australia के बीच Cricket World Cup के सबसे यादगार मुकाबलों में से एक मैच आज से ठीक 21 साल पहले एजबेस्टन में खेला गया था। यह उतार-चढ़ाव से भरा सेमीफाइनल मुकाबला पूरे 100 ओवर चला और इसका फैसला मैच की अंतिम गेंद पर हुआ था। मैच टाई रहा ता और ऑस्ट्रेलिया ने सुपर सिक्स दौर में बेहतर औसत की वजह से फाइनल में प्रवेश कर लिया था। दक्षिण अफ्रीका को पहली बार वर्ल्ड कप फाइनल में पहुंचने के लिए 4 गेंदों में जीत के लिए मात्र 1 रन चाहिए था लेकिन वह इस मौके को चूका था।

17 जून 1999 को बर्मिंघम के एजबेस्टन स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच सांसों को रोक देने वाला सेमीफाइनल मैच खेला गया था। टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत खराब रही थी और उसने 68 रनों पर 4 विकेट गंवा दिए थे। ऐसे में कप्तान Steve Waugh और Michael Bevan ने पांचवें विकेट के लिए संयमपूर्वक 90 रनों की साझेदारी करते हुए पारी को संभाला। शॉन पोलक ने स्टीव वॉ (56) को आउट कर इस साझेदारी को तोड़ा। इसके बाद दूसरे छोर से विकेट गिरते रहे लेकिन माइकल बेवन ने एक छोर थामे रखा और वे 65 रन बनाकर अंतिम विकेट के रूप में पैवेलियन लौटे। शॉन पोलक (5 विकेट) और एलन डोनाल्ड (4 विकेट) ने ऑस्ट्रेलिया को बड़ा स्कोर बनाने से रोका। कंगारू टीम ने 49.2 ओवरों में 213 रन बनाए।

214 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रहे दक्षिण अफ्रीका को हर्शल गिब्स और गैरी कर्स्टन ने अच्छी शुरुआत देते हुए पहले विकेट के लिए 48 रन जोड़े लेकिन दिग्गज स्पिनर Shae Warne ने इन दोनों को पैवेलियन भेजा। कप्तान हांसी क्रोन्ये और डैरिल कलीनन सस्ते में आउट हुए। इसके बाद जैक्स कैलिस और जोंटी रोड्स पांचवें विकेट के लिए 84 रनों की भागीदारी कर टीम को जीत की तरफ बढ़ा रहे थे लेकिन पॉल राइफल ने रोड्स (43) को आउट किया और शेन वॉर्न ने कैलिस का विकेट लेकर अपनी टीम को मैच में लौटाया।

रोमांचक अंतिम ओवर:

दक्षिण अफ्रीका ने 9 विकेट पर 205 रन बना लिए थे, ऑलराउंडर लांस क्लूनजर के साथ एलन डोनाल्ड क्रीज पर थे। द. अफ्रीका को जीत के लिए 9 रन चाहिए थे जबकि गेंद डेमियन फ्लेमिंग के हाथ में थी। क्लूनजर ने उनकी शुरुआती दो गेंदों पर दो चौके लगाए और स्कोर टाई हो गया। क्लूजनर 31 रन बनाकर क्रीज पर थे और द. अफ्रीका को 4 गेंदों में जीत के लिए 1 रन चाहिए था इसके चलते उसकी जीत पक्की लग रही थी। क्लूजनर तीसरी गेंद पर कोई रन नहीं बना पाए। चौथी गेंद को उन्होंने मिडऑफ की तरफ खेला और रन के लिए दौड़े। डोनाल्ड साथी बल्लेबाज की तरफ देखने के बजाए गेंद की तरफ देख रहे थे और उन्होंने देर से रन के लिए दौड़ना शुरू किया। मिडऑफ से गेंद नॉन स्ट्राइकर छोर पर फ्लेमिंग के पास आई जिन्होंने उसे विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट को दिया जिन्होंने डोनाल्ड को रन आउट कर दिया। मैच टाई हुआ क्योंकि दोनों टीमों का स्कोर 213-213 था। इसके बावजूद ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी जश्न मनाने लगे क्योंकि वे जानते थे कि मैच टाई होने की स्थिति में वे सुपर सिक्स में बेहतर रनरेट की वजह से फाइनल में पहुंच जाएंगे। इस तरह द. अफ्रीका फाइनल के इतने करीब आने के बाद भी उससे वंचित रह गया।

Posted By: Kiran K Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना