T20 World Cup 2021: रविवार को भारत और पाकिस्तान (India vs Pakistan) के बीच होनेवाले मैच को लेकर खिलाड़ियों से ज्यादा उनके देशवासियों और क्रिकेटप्रेमियों में उत्साह है। इन दोनों देशों में क्रिकेट सबसे ज्यादा लोकप्रिय है, और ये मैच कम, सम्मान की लड़ाई ज्यादा बन गई है। पाकिस्तान के खिलाड़ियों पर कुछ ज्यादा ही दबाव है, क्योंकि पिछेल 12 मैचों में उन्हें भारत से लगातार हार मिली है। ऐसे में सभी इन खिलाड़ियों को सलाह देने में लगे हैं। 24 अक्टूबर को दुबई में होने वाला मुकाबले से पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और विश्व विजेता कप्तान इमरान खान (Imran Khan) ने भी पाकिस्तानी टीम के कप्तान बाबर आजम से बातचीत की और उनके साथ अपने अनुभव साझा किये।

शनिवार को मैच से पहले हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस में पाकिस्तान के कप्तान से पूछा गया कि क्या भारत के खिलाफ सुपर-12 मैच से पहले प्रधानमंत्री ने कोई संदेश दिया था? इस पर बाबर ने बताया कि इमरान ने 1992 में अपनी पहली विश्व कप जीत के दौरान पाकिस्तान का नेतृत्व करने के दौरान अपने अनुभव टीम के साथ साझा किए। बाबर ने मैच की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘यहां आने से पहले, हमारी मुलाकात हुई थी और उसमें उन्होंने (इमरान) अपने अनुभव साझा किए थे। उन्होंने 1992 के विश्व कप में अपनी मानसिकता के बारे में बताने के साथ खुद और टीम की बॉडी लैंग्वेज (भाव भंगिमा) के बारे में बताया।’’

उधर, पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) के अध्यक्ष रमीज राजा ने भी खिलाड़ियों के साथ ऑनलाइन बैठक की और उन्हें टूर्नामेंट में अपना शत प्रतिशत देने की सलाह दी। बाबर ने बताया, ‘‘ अध्यक्ष ने हमसे कहा, ‘आप खुद को जितना शांत रखेंगे और चीजों को जितना सरल रखेंगे, उतना अच्छा होगा। बाहर की चीजें बाहर ही रहने दें। खुद पर विश्वास रखें और दिन में अपना शत प्रतिशत योगदान दें।’’

भारत-पाकिस्तान मैचों का इतिहास

भारत और पाकिस्तान के बीच विश्व कप में पहली भिड़ंत 1992 में हुई थी। उस वनडे विश्व कप में पाकिस्तान के कप्तान इमरान खान थे और टीम भारत के खिलाफ मैच हार गई थी। लेकिन इमरान अपनी टीम को विश्व विजेता बनाने में सफल रहे थे। तब से लेकर अब तक दोनों टीमें वनडे और टी20 के विश्व कप में, कुल 12 बार आमने-सामने हो चुकी हैं। लेकिन पाकिस्तान एक भी मैच जीतने में कामयाब नहीं हो पाया है। दोनों टीमें आखिरी बार 2019 में वनडे विश्व कप में भिड़ी थीं, और यहां भी भारत ने जीत हासिल की थी। बाबर आजम अपनी कप्तानी में इसे बदलने की पूरी कोशिश करेंगे।

Posted By: Shailendra Kumar