मुंबई। भारतीय क्रिकेट टीम के गेंदबाजी कोच के लिए सिलेक्शन कमेटी ने शुक्रवार को डैरेन गॉफ और वेंकटेश प्रसाद समेत सात दावेदारों को शॉर्टलिस्ट किया। वर्तमान गेंदबाजी कोच भरत अरुण पहले ही दावेदारों की सूची में शामिल है। इन दावेदारों के 19 अगस्त को इंटरव्यू होंगे।

बीसीसीआई की क्रिकेट सलाहकार समिति (CAC) जब शुक्रवार को टीम इंडिया के चीफ कोच के लिए इंटरव्यू कर रही थी तब एमएसके प्रसाद की अगुवाई वाली सिलेक्शन समिति सपोर्ट स्टाफ के लिए दावेदारों के नाम शॉर्टलिस्ट कर रही थी। गेंदबाजी कोच के लिए इस कमेटी ने सात नाम शॉर्टलिस्ट किए। इनमें इंग्लैंड के पूर्व तेज गेंदबाज गॉफ, पूर्व भारतीय गेंदबाजी कोच वेंकटेश प्रसाद, स्टीफन जोंस, सुब्रतो बैनर्जी, अमित भंडारी, पारस म्हाम्ब्रे और सुनील जोशी शामिल है। मुंबई में 19 अगस्त को होने वाले इंटरव्यू के दौरान इन्हें 20 मिनट में अपना प्रेजेंटेशन के लिए समय दिया जाएगा। दावेदार इस दौरान स्काइप के जरिए भी इंटरव्यू दे सकते हैं।

डैरेन गॉफ इंग्लैंड के जाने-माने गेंदबाज रह चुके है। वेंकटेश प्रसाद पहले भी टीम इंडिया के गेंदबाजी कोच रह चुके है। ये दोनों वर्तमान गेंदबाजी कोच भरत अरूण के लिए चुनौती माने जा रहे हैं। ग्रेट ब्रिटेन के जोंस को आईपीएल के दौरान राजस्थान रॉयल्स में जोफ्रा आर्चर को निखारने का श्रेय जाता है। वे डर्बीशायर, समरसेट, केंट और नॉर्थेम्पटनशायर के लिए कुल 17 सत्रों तक काउंटी चैंपियनशिप में खेल चुके हैं। भारतीय घरेलू सर्किट का जाना पहचाना नाम म्हाम्ब्रे भारतीय अंडर-19 और भारत ए टीम के साथ जुड़े रहे है। सुनील जोशी बांग्लादेश टीम के साथ जुड़े हुए है। भरत अरुण के मार्गदर्शन में टीम इंडिया के गेंदबाजों ने शानदार प्रदर्शन किया है। स्पिनरों के साथ ही तेज गेंदबाज भी लगातार प्रभावी प्रदर्शन कर रहे हैं।