नई दिल्ली। Virat kohli: भारत ने 3 मैचों की वनडे सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हराया। लेकिन टीम की इस जीत के बावजूद पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग कप्तान Virat Kohli से खुश नहीं हैं। विराट कोहली के कुछ फैसलों को लेकर सहवाग ने नाराजगी जताई है। सहवाग ने इतना तक कह दिया कि Virat Kohli को अपने खिलाड़ियों पर भरोसा नहीं है, जबकि MS Dhoni के साथ ऐसा नहीं था।

पूरा मामला केएल राहुल के बल्लेबाजी क्रम को लेकर है। सहवाह ने कहा- राहुल के बल्लेबाजी क्रम में लगातार परिवर्तन किए जा रहे हैं। टी20 में यदि राहुल 5वें नंबर पर नाकाम होते हैं तो टीम प्रबंधन उन्हें इस स्थान पर बरकरार नहीं रखेगा। जबकि महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में हर खिलाड़ी को अपनी काबिलियत साबित करने का पूरा मौका मिलता था।

धोनी करते थे खिलाड़ियों पर विश्वास

सहवाग ने खरी-खरी सुनाते हुए कहा- धोनी खिलाड़ियों पर विश्वास करते थे.. वे जानते थे कि खिलाड़ियों का समर्थन किन हालातों में करना है। विराट की बड़ी परेशानी ये है कि वे खिलाड़ियों पर विश्वास नहीं रखते.. उनके पास धैर्य की कमी है। धोनी की कप्तानी में हर बल्लेबाज का स्थान तय था.. क्रम में परिवर्तन बहुत कम ही होता था। ऐसे में बल्लेबाज भी मानसिक रुप से ज्यादा स्पष्ट होकर मैदान में उतरता था और अपनी रणनीति के हिसाब से खेलता था। धोनी ने उन खिलाड़ियों को चुना, मौका दिया जो भारतीय क्रिकेट को आगे ले गए। ओपनिंग, मिडिल ऑर्डर और उसके बाद के क्रम के बल्लेबाजों को लेकर धोनी स्पष्ट थे। लेकिन विराट के मामले में ऐसा नहीं है। यदि राहुल 3-4 बार नंबर 5 पर फेल होते हैं तो टीम प्रबंधन उन्हें वहां से हटा देगा।

रोहित सबसे बड़ा उदाहरण

सहवाग ने बताया कि रोहित शर्मा की कामयाबी में महेंद्र सिंह धोनी का बड़ा हाथ रहा। उन्‍होंने कहा- रोहित पहले मिडिल ऑर्डर में बल्‍लेबाजी करते थे.. वे ठीक तरह से नहीं खेल पाते थे। यहां उनका औसत और रन दोनों ही कम रहे। ऐसे में धोनी ने 2013 की चैंपियंस ट्रॉफी में उन्हें प्रमोट कर ओपनिंग कराई। नतीजा क्या निकला ये सबके सामने है। ओपनिंग करने पर ज्यादा देर तक खेलने का मौका मिलता है.. बल्लेबाज खुलकर तेज खेल सकता है।

बता दें कि रोहित शर्मा ने 2013 तक 108 पारियों में 3174 रन बनाए। जिसमें 4 शतक और 20 अर्द्धशतक शामिल थे। उनका सर्वाधिक स्कोर 209 रन था। लेकिन साल 2014 से लेकर अभी तक उन्‍होंने 108 पारियों में 5822 रन बनाए। इनमें 24 शतक व 23 अर्द्धशतक लगाए।

Posted By: Rahul Vavikar

fantasy cricket
fantasy cricket