India vs Australia: वीरेंद्र सहवाग ने इंस्टाग्राम पर एक फोटो शेयर की है। जिसमें उत्तप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तस्वीर है और बड़े अक्षरों में लिखा है, 'आज से ब्रिसबेन का नाम पंत नगर'। सहवाग ने पोस्ट पर कैप्शन लिखा कि क्यों नहीं ऋषभ पंत। वहीं आगे लिखा, ' इस सीरीज में मिली जीत इस तरह की जीत है जो कोई व्यक्ति कई पीढ़ियों में नहीं देख पाता है। इस जीत की खुशी सालों तक मनाई जानी चाहिए। 19 जनवरी फतेह, जय भारत।' इसके अलावा पुजारा ड्राइव, गिल सर्कल, ठाकुर कॉलोनी, सिराज रोड और वॉशिंगटन टाउन का भी नाम बताया। टीम इंडिया ने चौथे टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया को 3 विकेट से हराया। इसके साथ ही भारत ने बॉर्डर-गावस्कर टेस्ट सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली। गाबा मैदान में खेले गए मैच में कंगारूओं की टीम 31 मैच और 33 साल बाद हारी है। ऋषभ पंत (Rishabh Pant) (89 नाबाद) को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया। जबकि 21 विकेट लेने पर पैट कमिंस प्लेयर ऑफ द सीरीज रहे। भारतीय टीम को जिताने में ऋषभ का काफी योगदान रहा। उन्होंने अंत तक टीम को संभाले रखा। सभी लोग पंत की पारी की तारीफ कर रहे हैं। वहीं पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने अनोखे अंदाज में ही ऋषभ पंत को बधाई दी है।

भारतीय टीम टेस्ट में फिर नंबर 1

सीरीज जीतने के बाद भारतीय टीम टेस्ट में नंबर 1 बन गई है। इंडिया के कुल 71.7 पाइंट है। दूसरे पर न्यूजीलैंड 70.0 और तीसरे पर ऑस्ट्रेलिया 69.2 है। वहीं भारत ने ऑस्ट्रेलिया में लगातार दूसरी टेस्ट सीरीज अपने नाम की है। जबकि एशिया के बाहर दूसरी बार ऐसा किया। इसके पहले वेस्टइंडीज को हराया था। वहीं इंडिया ने एशिया के बाहर पहला मैच हारने के बाद पहली बार सीरीज जीती है।

इंग्लैंड सीरीज के लिए टीम का चयन

5 फरवरी से शुरू हो रही भारत -इंग्लैंड टेस्ट सीरीज के लिए टीम का चयन हो गया है। मोहम्मद शिराज, वॉशिंगटन सुंदर और शार्दुल ठाकुर को ऑस्ट्रेलिया में अच्छे प्रदर्शन के बाद टीम में जगह मिली है। पंड्या की वापसी हुई है जबकि पृथ्वी शॉ को बाहर कर दिया गया है। साथ ही 4 स्टैंडबाई और 5 नेट बॉलर को भी चुना गया है।

टीम: रोहित, कोहली (कप्तान), शुभमन, मयंक, पुजारा, रहाणे, पंत, साहा, हार्दिक, राहुल, बुमराह, इंशात, सिराज, शार्दुल, अश्विन, कुलदीप, अक्षर और सुंदर।

स्टैंडबाय: भरत, ईश्वरन, नदीम, चाहर।

नेट बॉलर: अंकित, आवेश, संदीप, के.गौतम और सौरभ कुमार।

Posted By: Navodit Saktawat