क्या आप यकीन कर सकते हैं कि भारत के सबसे विस्फोटक बल्लेबाजों में गिने जानेवाले वीरेन्द्र सहवाग किसी जमाने में अपनी बैटिंग सुधारने के लिए सचिन तेंदुलकर की नकल किया करते थे? वीरेन्द्र सहवाग ने खुद ही इस बात का खुलासा किया है। कुछ सालों पहले तक इन दोनों की ओपनिंग जोड़ी काफी खतरनाक मानी जाती थी और जब ये साथ उतरते थे, तो कई बार वीरेन्द्र सहवाग का स्कोर सचिन से ज्यादा होता था। लेकिन सहवाग मानते हैं कि सचिन हमेशा से उनके आदर्श रहे हैं, और उन्हें सचिन की तरह शॉट खेलना पसंद था।

बुधवार को वीरेन्द्र सहवाग ने बातचीत में बताया कि वह 1992 वर्ल्ड कप से सचिन को टीवी पर खेलते देख रहे हैं और तभी से उनके शॉट कॉपी करने की खूब कोशिश करते थे। सहवाग ने कहा, ‘क्रिकेट मैदान पर खेला जाता है लेकिन वीडियो देखकर काफी कुछ सीखा जा सकता है। यदि मैं अपना उदाहरण दूं तो मैंने 1992 वर्ल्ड कप से क्रिकेट देखना शुरू किया और उस समय मैं सचिन की बल्लेबाजी देखकर उनकी नकल करने का प्रयास करता था। खास तौर पर वह कैसे स्ट्रेट ड्राइव लगाते थे या बैकफुट पंच मारते थे। मैंने 1992 में टीवी पर देखकर काफी कुछ सीखा.’

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज ने क्रिकगुरू ऐप के सह संस्थापक संजय बांगड़ (Sanjay Bangar) के साथ ऐप के लॉन्च के मौके पर बातचीत के दौरान ये सब कहा। सहवाग ने कहा, ‘हमारे समय में ऐसी सुविधाएं नहीं थी कि किसी से ऑनलाइन बात करके या वीडियो सबस्क्राइब करके सीखा जा सके। अगर ऐसा होता तो मैं जरूर करता और बेहतर सीख पाता।’

Posted By: Shailendra Kumar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags