डरबन, एजेंसी। भारत भले ही वन-डे श्रृंखला में दक्षिण अफ्रीका से हार गया हो लेकिन तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा ने कहा कि उनकी टीम के लिए भी कुछ सकारात्मक पहलू रहे, जिनका उपयोग वे दो टेस्ट मैचों की आगामी श्रृंखला में करेगी।

भारत को पहले दो टेस्ट मैचों में करारी हार झेलनी पड़ी जबकि तीसरा मैच बारिश के कारण पूरा नहीं हो पाया। रद्द कर दिए गए इस मैच में 40 रन देकर 4 विकेट लेकर फॉर्म में लौटने वाले ईशांत ने कहा कि स्थिति उतनी बुरी नहीं है जितनी लग रही है।

उन्होंने कहा- 'दोनों टीमों में प्रत्येक अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी है और सभी के दिमाग में यह बात होती है। यदि आप अपने विचारों पर नियंत्रण रख सकते हो और आप आत्मविश्वासी हो तो फिर जानते हो कि क्या करना है, इसलिए मुझे नहीं लगता कि यह बड़ी हार है।'

उन्होंने कहा- 'हां हमने श्रृंखला गंवाई है लेकिन हमारे लिए भी इसमें कुछ सकारात्मक पहलू रहे और हम टेस्ट श्रृंखला में उनका उपयोग करेंगे।'

ईशांत ने कल रेयान मॅक्लॉरेन को आउट करके 70वें मैच में 100 विकेट भी पूरे किए।

उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के 8 विकेट पर 301 रन बनाने के संबंध में कहा- 'शुरू में विकेट में उछाल थी लेकिन बाद में वह थोड़ा धीमा हो गया। हमें इस तरह के विकेटों पर वैरीएशन का उपयोग करने की जरूरत है क्योंकि पिच थोड़ा शुष्क रहता है।

हवा अलग अलग दिशाओं से बहती हैं और कप्तान को अपने गेंदबाजों को रोटेट करना पड़ता है। हम प्रत्येक अलग-अलग तरह के गेंदबाज हैं और हमें मौका दिया गया जो कि अच्छी बात है।'

दक्षिण अफ्रीका के सलामी बल्लेबाज क्यूंटन डी कॉक ने तीनों मैच में शतक जमाया। ईशांत ने कहा- 'यह उसके लिए अच्छा है वे रन बनाने में सफल रहा लेकिन मुझे लगता है कि वे विशेषकर आज काफी भाग्यशाली रहे। सभी तीनों मैचों में गेंद उसके बल्ले से ऊपरी हिस्से से लगकर खाली स्थानों से होकर गई। इनमें संभावना बन सकती थी।'

ईशांत ने भारतीय गेंदबाजों के प्रदर्शन पर कहा- 'सभी बोल रहे हैं कि हमने कितने मैच खेले हैं लेकिन यदि आप औसत उम्र को देखो तो गेंदबाजी इकाई के रूप में हम काफी युवा हैं। सभी सीख रहे हैं। हमने गलतियां की और हमने उनसे सबक भी लिया।'

खुद की आलोचनाओं के प्रति ईशांत ने कहा- 'यह जिंदगी का हिस्सा है। हर को उतार-चढ़ाव से गुजरता है। मैंने रन लुटाए और मैं इसकी जिम्मेदारी लेता हूं, लेकिन लोगों को सोचना चाहिए कि यह आखिर में खेल है और गलतियां होती हैं।

जब मैं वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट मैचों में नहीं खेला तो मैंने विश्लेषण किया कि मैं अपने गेंदबाजी में क्या सुधार कर सकता हूं। महत्वपूर्ण यह है कि चयनकर्ताओं ने मुझे मौका दिया और टीम में वापसी की। सहयोगी स्टाफ और कप्तान भी यह मानता है कि मैं वापसी कर सकता हूं और अच्छा प्रदर्शन कर सकता है। यह मेरे लिए काफी मायने रखता है।'

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस