लंदन। महिला टी20 क्रिकेट को 2022 में बर्मिंघम में होने वाले कॉमनवेल्थ गेम्स में शामिल किया गया है। महिला टी20 क्रिकेट को बीच वॉलीबॉल और पैरा टेबल टेनिस के साथ पदक वाले खेलों के रूप में शामिल किया गया है।

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) और इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के संयुक्त प्रयासों से क्रिकेट की कॉमनवेल्थ गेम्स में वापसी हो पाई। इस इवेंट में 8 टीमें हिस्सा लेंगी। क्रिकेट इससे पहले सिर्फ एक बार 1998 में कॉमनवेल्थ गेम्स में शामिल हुआ था जब कुआलालंपुर में वनडे फॉर्मेट का इवेंट करवाया गया था। दक्षिण अफ्रीका ने पुरुषों का खिताब हासिल किया था।

आईसीसी के मुख्य कार्यकारी मनु सवानी ने कहा, यह महिला क्रिकेट और क्रिकेट जगत के लिए ऐतिहासिक क्षण है क्योंकि उनके प्रयास सफल रहे हैं। महिला क्रिकेट लगातार तरक्की कर रहा है और हम खुश है कि कॉमनवेल्थ गेम्स फेडरेशन (CGF) ने इसको शामिल करने के लिए वोट किया।

कॉमनवेल्थ गेम्स में क्रिकेट को शामिल किया जाना पहला कदम है क्योंकि आईसीसी की निगाहें 2028 लॉस एंजिल्स ओलिंपिक में क्रिकेट को शामिल करने पर टिकी हुई है। आईसीसी इस दिशा में पहल कर रहा है और बोर्ड को विश्वास है कि वह इस पहल में कामयाब हो जाएगा।

किसी भी खेल को ओलिंपिक में शामिल करने के लिए उसके संघों का वाडा (वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी) के अंतर्गत आना आवश्यक होता है और बीसीसीआई हाल ही में NADA के तहत आया जो वाडा की इकाई है। आईसीसी की क्रिकेट कमेटी के प्रमुख माइक गैटिंग ने कहा, बीसीसीआई के NADA के दायरे में आने से एक मुख्य बाधा दूर हो गई। अब अगले 18 महीने महत्वपूर्ण होंगे।

Posted By: Kiran Waikar