हैमिल्टन। दो मैच हार सीरीज गंवा चुकी भारतीय महिला टीम रविवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ तीसरे और अंतिम टी20 मैच में प्रतिष्ठा बचाने मैदान में उतरेगी। भारतीय टीम को सांत्वना जीत की तलाश रहेगी और कप्तान हरमनप्रीत कौर चाहेंगी कि उनकी बल्लेबाज सुधरा हुआ प्रदर्शन करे।

2020 टी20 विश्व कप के मद्देनजर टीम तैयार करने के मद्देनजर भारतीय टीम प्रबंधन ने सीनियर खिलाड़ी मिताली राज को दोनों मैचों में प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किया। अब उन्हें इस सबसे छोटे फॉर्मेट के उयपुक्त नहीं माना जा रहा है। यह रणनीति क्या रंग लाएगी यह तो समय ही बताएगा लेकिन अभी तो परिणाम अच्छे नहीं आ रहे हैं। भारत को सीरीज के दो मैचों में 23 रन और 4 विकेट से हार झेलनी पड़ी है।

हरमनप्रीत ने सीरीज हार के बाद कहा था कि टीम पुनर्निमाण के दौर से गुजर रही है, इसके चलते अभी कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है लेकिन अनुभव हासिल करने के बाद ये युवा खिलाड़ी ताकत बनकर उभरेंगे। भारतीय टीम दोनों मैचों में 140 से कम रन बना पाई जो अच्छा प्रदर्शन नहीं है। स्मृति मंधाना और जेमिमा रॉड्रिगेज को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज उपयोगी योगदान नहीं दे पाई हैं। डेब्यू करने वाली प्रिया पूनिया के खराब प्रदर्शन को समझा जा सकता है लेकिन कप्तान हरमनप्रीत का फॉर्म में नहीं होना टीम को भारी पड़ रहा है। वे इन दो मैचों में मात्र 17 और 5 रन बना पाई। वे वनडे सीरीज में भी फॉर्म में नही थी, इस सीरीज को मेहमान टीम ने आसानी से जीत लिया था।

हरमनप्रीत ने कहा, हम भले ही सीरीज नहीं जीत पाए लेकिन हमने काफी कुछ सीखा है। हमारे कई खिलाड़ी 30 से ज्यादा मैच खेल चुके हैं और अधिकांश खिलाड़ियों के पास 10 से ज्यादा मैचों का अनुभव है। भारतीय टीम दीप्ति शर्मा की भूमिका को लेकर कुछ तय नहीं कर पा रही है।

न्यूजीलैंड टीम ने वनडे सीरीज हार के बाद टी20 सीरीज में शानदार प्रदर्शन किया है। सूजी बेट्स ने अंतिम वनडे में 57 रन बनाए थे और उन्होंने दूसरे टी20 मैच में 62 रनों की मैच विजयी पारी खेली। कीवी टीम इस मैच को जीतकर सीरीज में भारतीय टीम का सफाया करना चाहेगी।

Posted By: