World Cup Final England vs New Zealand: ऐतिहासिक लॉर्ड्स मैदान पर खेले गए बेहद रोमांचक फाइनल मुकाबले में इंग्लैंड ने न्यूजीलैंड को बॉल काउंट से हरा दिया। इंग्लैंड के लिए मुकाबला आसान नहीं था, लेकिन मैन ऑफ द मैच रहे बेन स्टोक्स ने आखिरी समय तक मोर्चा संभाले रखा और आखिरी में इंग्लैंड के हीरो साबित हुए। 50वें ओवर में एक पल ऐसा भी आया जब किस्मत ने इंग्लैंड का साथ दिया और जहां एक-एक रन निर्णायक साबित हो रहा था, वहां मेजबान टीम को चार रन अतिरिक्त मिल गए। जानिए क्या हुआ उस ओवर में -

आखिरी ओवर में इंग्लैंड को 15 रन की जरूरत थी। शानदार बल्लेबाजी कर रहे स्टोक्स ने 50वें ओवर की पहली गेंद खेली जो ट्रेंट बोल्ट ने फेंकी थी। यॉर्कर बॉल पर कोई रन नहीं बना। दूसरी गेंद भी खाली निकल गई। तीसरी गेंद पर स्टोक्स ने छक्का जड़ दिया। इसकी अगली गेंद पर जो हुआ, उसकी चर्चा आज पूरे क्रिकेट जगत में हो रही है।

स्टोक्स ने फुलटॉस गेंद को मिडविकेट की ओर खेला। मार्टिन गप्टिल ने फील्डिंग की और अपने थ्रो से विकेट कीपर छोर पर स्टोक्स को आउट करने की कोशिश की, लेकिन गेंद विकेट कीपर तक जाती इससे पहले ही डाइव कर रहे स्टोक्स के बल्ले से गेंद टकराई और ओवर थ्रो के रूप में बाउंड्री पार चली गई। इस तरह इंग्लैंड को चार रन अतिरिक्त यानी कुल 6 रन मिल गए। इन अतिरिक्त 4 रनों ने इंग्लैंड की जीत में अहम भूमिका निभाई, क्योंकि इसके बाद इंग्लैंड को 2 गेंद पर 3 रन की जरूरत थी। अगली दो गेंदों पर एक-एक रन बना (दोनों ही बॉल पर रन आउट भी हुए) और मैच टाई हो गया। सुपर ओवर भी टाई रहा तो ज्यादा बाउंड्री लगाने के कारण इंग्लैंड को चैंपियन घोषित कर दिया गया।

विरोधी कप्तान से बोले स्ट्रोक्स, जिंदगी पर माफी मांगता रहूंगा

इस घटनाक्रम के दौरान स्टोक्स ने न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन से कहा कि जो हुआ उसके लिए वे उनसे जिंदगी भर माफी मांगते रहेंगे। केन विलियम्सन ने भी मैच के बाद इस घटना का जिक्र किया और इसे शर्मनाक बताया।