मल्टीमीडिया डेस्क। भारतीय ऑलराउंडर युवराज सिंह ने 12 साल पहले 2007 टी20 वर्ल्ड कप के दौरान एक ऐसा कीर्तिमान बनाया था जिसे कोई नहीं तोड़ सकता है। वे 19 सितंबर 2007 को इंटरनेशनल टी20 क्रिकेट के एक ओवर में छह छक्के लगाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बने थे। उन्होंने यह करिश्मा इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड के ओवर में किया था।

युवराज इस मैच के दौरान इंग्लैंड के ऑलराउंडर एंड्रयू फ्लिंटॉफ पर गुस्सा हुए थे और इसका शिकार होना पड़ा था ब्रॉड को। भारत की पारी में फ्लिंटॉफ ने 18वां ओवर डाला था जिसमें युवी ने दो चौके लगाए थे जिसके बाद फ्लिंटॉफ और युवी के बीच बहस हो गई थी। फ्लिंटॉफ ने युवी के शॉट्स को लेकर अभद्र टिप्पणी की थी जिस पर युवी ने कहा था कि वे बल्ले से जवाब देंगे। ब्रॉड इसके बाद पारी का 19वां ओवर डालने आए और युवी ने इस पर इतिहास रच दिया। युवी ने 16 गेंदों में 3 चौकों और 7 छक्कों की मदद से 58 रन बनाए। भारत ने 4 विकेट पर 218 रन बनाए और इंग्लैंड को 200 रनों पर रोककर यह मैच 18 रनों से जीता।

ब्रॉड का ओवर :

1 गेंद: युवराज ने मिडविकेट पर छक्का लगाया।

2 गेंद: युवी ने फ्लिक के जरिए बैकवर्ड स्क्वैयर लेग पर छक्का जड़ा।

3 गेंद: युवी ने गजब का शॉट खेलते हुए एकस्ट्रा कवर के उपर से छक्का जमा दिया।

4 गेंद: युवी ने इस गेंद पर बैकवर्ड पाइंट पर छक्का जड़ा।

5 गेंद: युवी ने छक्कों के क्रम को जारी रखा और घुटनों के बल बैठकर मिडविकेट के उपर से गेंद को बाउंड्री के बाहर भेजा।

6 गेंद: युवी ने अंतिम गेंद पर लांग ऑन पर छक्का लगाया और वे इंटरनेशनल टी20 क्रिकेट में एक ओवर में छह छक्के लगाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बने।

युवी इंटरनेशनल क्रिकेट में एक ओवर में छह छक्के लगाने वाले दुनिया के दूसरे बल्लेबाज बने। उनसे पहले दक्षिण अफ्रीका के हर्शल गिब्स ने इंटरनेशनल वनडे में एक ओवर में छह छक्के जड़ने का कारनामा किया था। गिब्स ने 2007 वनडे वर्ल्ड कप में सेंट किट्स में नीदरलैंड्स के डान वान बुंगे के ओवर में यह उपलब्धि हासिल की थी।

इंटरनेशनल टी20 क्रिकेट की सबसे तेज फिफ्टी :

युवी ने इस मैच के दौरान इंटरनेशनल टी20 क्रिकेट की सबसे तेज फिफ्टी लगाई। उन्होंने मात्र 12 गेंदों में 3 चौकों और 6 छक्कों की मदद से अर्द्धशतक पूरा किया। यह टी20 क्रिकेट की भी सबसे तेज फिफ्टी है और उनका यह रिकॉर्ड अभी भी कायम है।