काइरो। अल्जीरिया ने सेनेगल को हराकर प्रतिष्ठित अफ्रीका कप ऑफ नेशंस का खिताब हासिल किया। बगदाद बाउनेद्जाह के गोल गोल की बदौलत अल्जीरिया ने इस प्रतिष्ठित फुटबॉल टूर्नामेंट का खिताब अपने नाम किया।

अल्जीरिया ने सिर्फ दूसरी बार इस यह खिताब हासिल किया। 1990 के बाद यह उसका पहला खिताब है और इस ट्रॉफी को जीतने के लिए टीम को 29 साल तक इंतजार करना पड़ा। सेनेगल की टीम ने अब तक एक बार भी इस खिताब को नहीं जीता है। इंग्लिश क्लब लिवरपूल के स्टार खिलाड़ी सादियो माने का प्रदर्शन टूर्नामेंट में दमदार रहा, लेकिन फाइनल में वह अपनी टीम को जीत नहीं दिला सके।

अल्जीरिया के कोच जामेल बेलमाडी ने कहा- मैं बहुत खुश हूं। हमारा पूरा देश और सभी लोग लंबे समय से इस खिताब का इंतजार कर रहे थे। हमने पहली बार घर से बाहर यह खिताब जीता है। मैंने टीम का कार्यभार उन हालात में संभाला जब टीम संघर्ष कर रही थी। मैं इससे खिलाड़ियों को यह संदेश देना चाहता हूं कि हम आगे भी मुश्किल टूर्नामेंटों को जीत सकते हैं।

सेनेगल को दूसरे हाफ के मध्य में लाइफ लाइन मिलती दिखी जब रैफरी ने अल्जीरिया के खिलाड़ी के हैंडबॉल के चलते सेनेगल के पक्ष में पेनल्टी प्रदान की थी। लेकिन जब वीडियो असिस्टेंट रैफरी (VAR) के जरिए देखा गया तो उन्हें अपना फैसला बदलना पड़ा।