पेरिस (एजेंसियां)। यूक्रेन ने पुर्तगाल को हराकर यूरो कप फुटबॉल 2020 के लिए क्वालीफाई कर लिया है। पुर्तगाल इस मुकाबले में भले ही हार गया, लेकिन उसके स्टार स्ट्राइकर क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने इस मुकाबले में अपने करियर का 700वां गोल दागा। वहीं सोफिया में खेले गए एक अन्य मैच में इंग्लैंड ने बुल्गारिया को 6-0 से हरा। पर इस मैच में उस समय अप्रिय स्थिति बनी जब मेजबान टीम के फैंस ने इंग्लैंड के खिलाड़ियों पर नस्लवादी टिप्पणियां की। बता दें कि इससे पहले पोलैंड, रूस, इटली और बेल्जियम भी 12 जून से शुरू हो रहे यूरो कप फुटबॉल के लिए क्वालिफाई कर चुके हैं।

कीव में खेले गए मैच में मेजबान यूक्रेन ने पुर्तगाल को 2-1 से हराया। स्टार खिलाड़ी रोनाल्डो ने मैच के 72वें मिनट में पेनल्टी के जरिए गोल दागा। ये 973 मैचों के उनके करियर का 700वां गोल रहा। रोनाल्डो के प्रदर्शन का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने 458 मैचों में गोल दागे हैं। फिलहाल वे सबसे ज्यादा गोल करने वाले खिलाड़ियों में अभी भी चेक गणराज्य के जोसेफ बिकन (805), ब्राजील के रोमारियो (772), पेले (767), फेरेंस पुकास (746) और गर्ड म्यूलर (735) से पीछे हैं। अंतरराष्ट्रीय मैचों में ये रोनाल्डो को 95वां गोल रहा। वह अंतरराष्ट्रीय मैचों में सबसे ज्यादा गोल करने वाले खिलाड़ियों में ईरान के अली देआई (109) के बाद दूसरे स्थान पर हैं। हालांकि रोनाल्डो इस मुकाबले में अपनी टीम को जीत नहीं दिला पाए। इस मैच में जीत के साथ यूक्रेन ने यूरो कप के लिए क्वालिफाई कर लिया।

नस्लीय टिप्पणी के कारण दो बार बाधित हुआ मैच

सोफिया (बुल्गारिया)। उधर इंग्लैंड ने क्वालीफायर मुकाबले में मेजबान बुल्गारिया को 6-0 से रौंद दिया। इस मुकाबले में इंग्लैंड की टीम को नस्लभेदीय टिप्पणियों का सामना करना पड़ा। बावजूद इसके इंग्लिश टीम ने अपने खेल से जवाब दिया। दर्शकों द्वारा बाधा डालने के कारण मैच को दो बार रोका भी गया। मैच अधिकारियों ने मैच का बहिष्कार करने की धमकी भी दी। मैच में पहला नस्लीय कटाक्ष पहले हाफ में इंग्लैंड के लिए पदार्पण कर रहे टायरोने मिंग्स को लेकर किया गया। इसके बाद 28वें मिनट में रहीम स्टर्लिंग इसका शिकार बने। यहां रैफरी इवान बेबेक ने मैच रोक दिया।

लंबी चर्चा के बाद और यूईएफए के नस्लभेद के साथ निपटने के प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए भीड़ को दोबारा इस तरह का व्यवहार दोहराने पर अंजाम भुगतने की चेतावनी दी गई। हाफ टाइम से ठीक पहले एक बार और मैच रोका गया। इंग्लैंड के लिए रोस बार्कले और रहीम स्टर्लिंग ने दो-दो गोल किए जबकि मार्कस रशफोर्ड और हैरी केन ने एक-एक गोल किया। पूरे मैच में इंग्लैंड की टीम ने दबदबा कायम रखा और बुल्गारिया की टीम डिफेंस में ही व्यस्त रही।

इस बीच फ्रांस और तुर्की के बीच चल रहे राजनयिक तनाव की पृष्ठभूमि में खेला गया मैच ड्रॉ रहा। फ्रांस ने सीरिया में सैन्य अभियान के लिए तुर्की की निंदा की है। फ्रांस अगले महीने मोलदोवा को हराकर क्वालीफाई कर सकता है। दूसरी ओर तुर्की अगर आइसलैंड के खिलाफ ड्रॉ भी खेलता है तो क्वालीफाई कर जाएगा।

Posted By: Rahul Vavikar