लुसाने (एजेंसियां)। भ्रष्टाचार के आरोपों से जुझ रहे यूएफा के पूर्व अध्यक्ष माइकल प्लातिनी के लिए राहत भरी खबर है। उन्हें फुटबॉल में अगले सप्ताह से वापसी करने की आजादी मिल गई है। हालांकि बता दें कि उनके खिलाफ भ्रष्टाचार की जांच आगे भी जारी रहेगी।

गौरतलब है कि माइकल प्लातिनी पर भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद 4 सालों का प्रतिबंध लगाया गया था। प्रतिबंध की ये अवधि अगले सप्ताह समाप्त होने जा रही है। उन्हें फुटबॉल में वापसी करने की अनुमति मिल गई है। बता दें कि प्लातिनी 2007 में यूरोपियन फुटबॉल की शीर्ष संस्था यूएफा के अध्यक्ष बने थे। उन पर घूस लेने के गंभी आरोप लगे थे जिसके बाद उन्हें प्रतिबंधित कर दिया गया था।

न्यॉर को मिला जोकिम लॉ का साथ

बर्लिन (एजेंसी)। जर्मनी के मुख्य कोच जोकिम लॉ ने शुक्रवार को स्पष्ट कर दिया कि मैनुअल न्यॉर ही टीम के गोलकीपर के लिए उनकी पहली पसंद हैं। लंबे समय से जर्मनी के नंबर एक गोलकीपर के लिए न्यॉर और मार्क आंद्रे टेर स्टेगन के बीच मुकाबला चल रहा है। हाल ही में स्टेगन ने यूरो कप 2020 क्वालीफायर में नहीं खिलाए जानने के बाद शिकायत दर्ज कराई थी। इसे लेकर टीम में विवाद की स्थिति भी बन गई थी। हालांकि अगले दौर के क्वालीफायर के लिए इन दोनों गोलकीपरों को जर्मनी की 21 सदस्यीय टीम में जगह दी गई है। लेकिन कोच ने न्यॉर को ही अपनी पहली पसंद बताया है।

इटली की टीम में निकोलो की वापसी

पेरिस। उधर रोमा के स्टार मिडफील्डर निकोलो जानिओलो की इटली की राष्ट्रीय टीम में वापसी हुई है। कोच रॉबर्टो मांसिनी ने 2020 यूरो कप क्वालीफायर में ग्रीस और लिचटेंस्टीन के खिलाफ होने वाले मैचों के लिए इटली की टीम घोषित की। मांसिनी ने 20 वर्षीय निकोलो को समूह जे में आर्मेनिया और फिनलैंड के खिलाफ पिछले महीने खेले गए मैचों से टीम से बाहर रखा था। लेकिन इस मुकाबले में उनकी उपयोगिता देखते हुए उन्हें दोबारा टीम में शामिल किया गया है। वहीं टीम में बोका जूनियर्स के मिडफील्डर डेनियल डि रोसी को जगह नहीं मिल पाई है।

Posted By: Rahul Vavikar