नई दिल्ली (एजेंसियां)। भारतीय महिला फुटबॉल टीम वियतनाम के खिलाफ होने वाले 2 फीफा अंतरराष्ट्रीय दोस्ताना मुकाबलों की तैयारी कर रही है है। ये मुकाबले अगले महीने होंगे। इसके लिए भारतीय टीम का प्रशिक्षण शिविर दिल्ली में शुरू हुआ है। इन मुकाबलों को लेकर टीम के कोच मेमोल रॉकी ने कहा कि थोड़े अंतराल में मैच खेलने का मौका मिलने से टीम को काफी फायदा होता है।

बता दें कि भारतीय टीम को पिछले कुछ समय में नियमित अंतराल से अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने का मौका मिल रहा है। कोच मेमोल ने इन मौके को सकारात्मक पहल बताते हुए कहा कि इससे खिलाड़ियों का फिटनेस स्तर बना रहा रहता है और टीम के प्रदर्शन में काफी सुधार होता है। गौरतलब है कि भारतीय टीम अगले महीने वियतनाम के खिलाफ दो फीफा अंतरराष्ट्रीय मैत्री मुकाबले खेलेगा। इसकी तैयारियों के लिए भारतीय टीम का ट्रेनिंग कैम्प दिल्ली में शुरू हुआ। कैम्प के पहले दिन हेड कोच मेमोल रॉकी ने कहा- हम लगातार अंतराल पर टूर्नामेंट और अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में खेल रहे है। लगभग हर महीने टीम का शिविर लग रहा है और ये खिलाड़ियों के फिटनेस स्तर को बढ़ाने में मदद करता है। साथ ही इससे टीम के प्रदर्शन का अच्छा आकलन होता है। गलतियों में सुधार करने और नई रणनीति के साथ मैदान में उतरने का मौका मिलता है।

गौरतलब है कि भारतीय महिला फुटबॉल टीम के लिए ये साल काफी व्यस्त रहा है। उसने हीरो गोल्ड कप, सेफ चैंपियनशिप, एएफसी ओलिंपिक क्वालीफायर्स में भाग लिया। इसके अलावा भारतीय टीम ने तुर्की, स्पेन (कोटिफ कप) और उज्बेकिस्तान (मैत्री मुकाबले) का भी दौरा किया।

वियतनाम से होने वाले मुकाबले को लेकर कोच मेमोल ने कहा- हमें वियतनाम से कड़ी चुनौती मिलेगी। वियतनाम की टीम काफी मजबूत है और ऐसी कठिन टीमों के साथ खेलने से हमारी टीम का अच्छा विकास होगा। हम इस चुनौती के लिए तैयार हैं और इन दो मैचों में अपना सर्वश्रेष्ठ करेंगे।

भारतीय कोच ने महिला फुटबॉल की बढ़ती लोकप्रियता पर संतोष जताते हुए कहा- 2020 फीफा अंडर 17 महिला विश्व कप का आयोजन भारत में होने से इस खेल को और अधिक लोकप्रियता मिलेगी। जिस तरह से हम आगे बढ़ रहे हैं उससे मैं काफी खुश हूं। विश्व कप की मेजबानी करना आसान नहीं है। निश्चित तौर पर इससे देश में महिला फुटबॉल की लोकप्रियता बढ़ेगी।

Posted By: Rahul Vavikar