देश-दुनिया में गोल मशीन के नाम से मशहूर पद्मश्री बलबीर सिंह सीनियर (Balbir Singh Sr) का पंजाब के मोहाली में निधन हो गया है। वे बीमार थे और बीते कुछ दिनों से अस्पताल में भर्ती थे। उन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही थी, जिसके बाद 8 मई को फोर्टिस अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। उम्र अधिक होने के कारण उनके इलाज में दिक्कत आ रही थी। डॉक्टरों की लाख कोशिशों के बावजूद सदी के इस महान खिलाड़ी ने सोमवार सुबह 6.17 बजे दुनिया को अलविदा कह दिया। बलबीर सिंह सीनियर देश के अकेले ऐसे खिलाड़ी थे,जो 3 बार ओलिंपिक गोल्ड मेडल विजेता टीम के सदस्य रहे थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शोक व्यक्त करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की है।

Balbir Singh Sr के कारनामे

Balbir Singh Sr दुनियाभर में गोल मशीन के नाम से मशहूर थे। भारत ने हॉकी में ओलिंपिक लंदन (1948), हेल्सिंकी (1952) और मेलबोर्न (1956) में गोल्ड मेडल जीता था। इन तीनों टीमों में बलबीर सिंह सीनियर मेडल विजेता टीम के हिस्सा थे। साल 1948 के लंदन ओलिंपिक में अर्जेंटीना के खिलाफ उन्होंने 6 गोल दागे थे, इस मैच में भारत 9-1 से जीता था। उसी ओलिंपिक के फाइनल में भारत ने इंग्लैंड को 4-0 से हराया था, इस मैच में उन्होंने पहले 15 मिनट में दो गोल कर थे।

हेल्सिंकी ओलंपिक के फाइनल मैच में Balbir Singh Sr ने हॉलैंड के खिलाफ फाइनल मैच 5 गोल दागे थे। जिसका रिकॉर्ड आज भी गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज है। साल 1954 में सिंगापुर टूर पर गई टीम इंडिया ने कुल 121 गोल किए थे, जिसमें 84 गोल अकेले Balbir Singh Sr के थे।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना