Tokyo Olympics 2020: भारतीय महिला हॉकी टीम की खिलाड़ी वंदना कटारिया (Vandana Katariya) ने इतिहास रच दिया है। उन्होंने टोक्यो ओलंपिक में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टीम को जिताने में अहम भूमिका निभाई। वहीं रोमांचक मुकाबले में तीन गोल दागे। इसी के साथ वंदना हॉकी में हैट्रिक लगाने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बन गई है। वर्ष 1984 के बाद किसी भारतीय ने ओलंपिक में हैट्रिक नहीं लगाई थी। आखिरी बार 1984 ओलंपिक में पुरुष हॉकी प्लेयर विनीत शर्मा ने ताबड़तोड़ तीन गोल कर हैट्रिक अपने नाम की थी। शर्मा ने मलेशिया के खिलाफ मैच में उपलब्धि हासिल की थी। भारत ने मैच 3-1 से जीता था।

वंदना कटारिया के शानदार प्रदर्शन के बदौलत भारतीय टीम ग्रुप ए का अपना आखिरी मुकाबला जीत गई है। टीम ने आखिरी ग्रुप मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका को 4-3 से हरा दिया। साथ ही टोक्यो ओलंपिक में अपनी दूसरी जीत दर्ज की। अब ग्रुप में चौथे स्थान पर पहुंच गई हैं। अब भारत का क्वार्टरफाइनल में पहुंचना किस्मत के ऊपर है। दरअसल ग्रेट ब्रिटेन और आयरलैंड के मुकाबले पर निर्भर करेगा। नियमों के मुताबिक हर ग्रुप में चार टीम क्वार्टरफाइनल में पहुंचेंगी। भारतीय टीम सभी मैच खेलकर चौथे स्थान पर है। वहीं ग्रेट ब्रिटेन तीसरे और आयरलैंड पांचवें रैंक पर है।

अब ग्रेट ब्रिटेन और आयरलैंड के बीच ग्रुप का आखिरी मुकाबला होना है। ब्रिटेन के मैच जीतने या ड्रॉ होने पर इंडियन टीम क्वार्टरफाइनल में पहुंचेगी। आयरलैंड के जीतने पर भारतीय महिला हॉकी टीम का ओलंपिक 2020 का सफर समाप्त हो जाएगा।

Posted By: Navodit Saktawat