चेन्नई सुपर किंग्स और भारत के हरफनमौला खिलाड़ी रवींद्र जडेजा को पसली की चोट के कारण शेष आईपीएल 2022 से बाहर कर दिया गया है। उनकी फ्रेंचाइजी ने बुधवार (11 मई) को इस बात की पुष्टि की। उन्होंने कुछ दिन पहले ही टीम की कप्तानी छोड़ी थी। बुधवार को चेन्नई की टीम की तरफ से इस बात की आधिकारिक सूचना दी गई। सीएसके ने एक बयान में कहा, "रवींद्र जडेजा की पसली में चोट लगी थी और वह रविवार को दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ चेन्नई सुपर किंग्स के मैच के लिए उपलब्ध नहीं थे। वह निगरानी में थे और चिकित्सकीय सलाह के आधार पर उन्हें आईपीएल के बाकी सत्र से बाहर कर दिया गया है। यह भी कहा है कि वे अपने 'जादूगर' के जल्‍द ठीक होने की कामना करते हैं। 33 वर्षीय जडेजा गत 4 मई को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ सीएसके के मैच के दौरान डीप से दौड़ने के बाद कैच लेने का प्रयास करते हुए चोटिल हो गए। सीएसके के सीईओ काशी विश्वनाथन ने बताया, 'रवींद्र जडेजा सीएसके के अगले दो मैच में नहीं खेलेंगे, क्योंकि उनकी पसली में चोट है। वह घर लौट चुके हैं।' जडेजा रायल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) के खिलाफ मैच के दौरान लगी चोट के कारण दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ भी नहीं खेल पाए थे। सत्र के शुरुआती आठ मैच में सीएसके की कप्तानी करने वाले जडेजा के लिए मौजूदा सत्र निराशाजनक रहा और वह 10 मैच में 20 की औसत से सिर्फ 116 रन ही बना सके। वह 7.51 के इकोनामी रेट से पांच विकेट ही चटका पाए।

जडेजा और सीएसके प्रबंधन के बीच दरार की भी चर्चाएं

रिपोर्ट्स की मानें तो जडेजा ने आईपीएल 2022 के बचे हुए मैचों से अपनी चोट की वजह से नहीं बल्कि सीएसके प्रबंधन के साथ अपने मतभेद के कारण अपना नाम वापस ले लिया है। दरार की अफवाहें तब बढ़ गई जब रिपोर्ट्स ने दावा किया कि सीएसके ने जडेजा को इंस्टाग्राम पर अनफॉलो कर दिया। इसमें कोई शक नहीं है कि जडेजा चोटिल हैं लेकिन यह भी सच है कि जडेजा और सीएसके प्रबंधन के बीच सब कुछ ठीक नहीं है। चीजें सामान्य नहीं रही हैं क्योंकि उन्हें कप्तान के रूप में बेवजह हटा दिया गया था।

Posted By: Navodit Saktawat