नई दिल्ली। कप्तान विराट कोहली के साथ विवाद के बाद स्टेडियम का दरवाजा तोड़ने वाले इंग्लिश अंपायर नाइजेल लांग से बीसीसीआई नाराज है। इस विवाद के बावजूद लांग को 12 मई को होने वाले आईपीएल 2019 के फाइनल से हटाए जाने की कोई संभावना नहीं है।

बेंगलुरु में 4 मई को रॉयल चैलेंजर्स बंगलोर (आरसीबी) और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच मैच में उमेश यादव की विवादास्पद नोबॉल को लेकर विराट कोहली और लांग के बीच विवाद हुआ था। आईसीसी के एलीट पैनल अंपायर लांग ने उमेश की गेंद को नोबॉल करार दिया था लेकिन टीवी रिप्ले के अनुसार यह नोबॉल नहीं थी। इसके बाद विराट ने अंपायर से सवाल-जवाब किए थे। इससे लांग नाराज हो गए थे और सनराइजर्स की पारी खत्म होने के बाद उन्होंने अंपायर्स रूम के दरवाजे पर जमकर लात मारी थी। इससे उस दरवाजे को नुकसान पहुंचा था।

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा, इस मामले में लांग से पूछताछ की जा सकती है लेकिन उन्हें हैदराबाद में होने वाले आईपीएल फाइनल से नहीं हटाया जाएगा। वैसे बीसीसीआई इस बात को लेकर पसोपेश में है कि अंपायर से सवाल-जवाब किए जाए या नहीं।

कर्नाटक राज्य क्रिकेट एसोसिएशन (केएससीए) के सचिव सुधाकर राव ने कहा कि 50 वर्षीय अंपायर लांग ने दरवाजे के नुकसान के 5000 रुपए केएससीए को चुका दिए थे। वे इसकी रसीद भी चाहते हैं। मैंने इस मामले में मैच रैफरी नारायण कुट्टी से बात नहीं की, लेकिन हमने इस मामले का जानकारी प्रशासकों की समिति को दे दी है और उम्मीद है कि उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। यदि अभद्रता या खराब व्यवहार के लिए खिलाड़ियों के खिलाफ एक्शन लिया जाता है और मैच फीस का जुर्माना लगाया जाता है तो अंपायरों के खिलाफ भी ऐसा करना चाहिए।

लांग 56 टेस्ट, 123 वनडे और 32 टी20 मैचों में अंपायरिंग कर चुके हैं। वे 30 मई से इंग्लैंड में होने वाले वर्ल्ड कप में भी अंपायरिंग करेंगे।