कोलकाता। भारतीय स्पिनर कुलदीप यादव का मानना है कि वे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इतने सफल नहीं होते यदि कप्तान विराट कोहली ने उन्हें आक्रमण की छूट नहीं दी होती।

कुलदीप ने कहा, आपको ऐसा कप्तान चाहिए जो आपका समर्थन करे और वर्ल्ड लेवल पर सफल होने की आपकी काबिलियत पर उसे विश्वास हो। यदि हमें कोहली भाई खुली छूट नहीं देते तो हम इतने सफल नहीं हो सकते थे।

कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) की तरफ से आईपीएल में खेलने वाले कुलदीप आईपीएल 2019 में असफल रहे क्योंकि उन्हें अधिकांश मैच बल्लेबाजों की मददगार ईडन गार्डंस की पिच पर खेलने पड़े। वे 9 मैचों में 4 विकेट ले पाए, इसके बाद उन्हें प्लेइंग इलेवन से बाहर बैठना पड़ा।

24 वर्षीय कुलदीप ने कहा कि वे आईपीएल की निराशा को भुलाकर 30 मई से होने वाले वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन करना चाहेंगे। उन्होंने कहा, विश्व कप की तुलना में आईपीएल बहुत अलग होता है। आईपीएल में सफल हुए कई खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रभाव छोड़ने में नाकाम रहे हैं। मैं गेंदबाज के रूप में परिपक्व हुआ हूं और वर्ल्ड कप में अपने प्रदर्शन को प्रभावित नहीं होने दूंगा।

उन्होंने कहा टी20 ऐसा फॉर्मेट है जब खराब दिन आप बहुत रन देते हो। मैं कोई जादूगर नहीं हूं जो हर मैच में अच्छा प्रदर्शन करे। ऐसा जरूरी नहीं कि मैं हर मैच में विकेट हासिल करूं। यदि मुझे विकेट नहीं मिले, इसका मतलब यह नहीं है कि अच्छी गेंदबाजी नहीं कर रहा हूं। मैं एक परिपक्व क्रिकेटर हूं और टीम के बारे में ज्यादा सोचता हूं।

महेंद्रसिंह धोनी के बारे में उनके एक कमेंट को लेकर चल रहे विवाद के बारे में कुलदीप ने सफाई दी। उन्होंने कहा, मेरे जैसा युवा खिलाड़ी टीम के सीनियर खिलाड़ी के बारे में ऐसा कमेंट कैसे कर सकता है। मीडिया ने विवाद खड़ा करने के लिए मेरी बात की गलत मतलब निकाला। इसमें कोई संदेह नहीं है धोनी भाई की टिप्स सिर्फ मेरे ही नहीं पूरी टीम के लिए बहुमुल्य होती हैं। स्टम्प्स के पीछे उनकी उपस्थिति से हमारा काम आसान हो जाता है और इस बात से कोई इंकार नहीं कर सकता है। उनकी सलाह के बगैर हम 50 फीसदी भी प्रभावी नहीं हो पाते।

आईपीएल 2019 में आंद्रे रसेल ने विस्फोटक बल्लेबाजी की और उन्होंने अकेले दम पर कोलकाता नाइटराइडर्स को कई मैचों में जीत दिलाई। कुलदीप ने कहा कि उन्होंने इस दौरान कुछ ट्रिक्स सीखी हैं जिनका उपयोग वे वर्ल्ड कप में वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच में करेंगे। उन्हें टर्निंग गेंद का सामना करने में परेशानी होती है। टर्न होती गेंद उनकी कमजोरी हैं। मैं जानता हूं कि उन्हें कैसे रोकना चाहिए और मैं वर्ल्ड कप में उस प्लान का उपयोग करूंगा।

Posted By: Kiran Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Assembly elections 2021
Assembly elections 2021
 
Show More Tags