मल्टीमीडिया डेस्क। भारतीय शटलर पीवी सिंधु के लिए रविवार का दिन यादगार बन गया क्योंकि उन्होंने बासेल (स्विट्जरलैंड) में अपने प्रमुख खिताब नहीं जीत पाने के मिथक को तोड़ते हुए BWF वर्ल्ड चैंपियनशिप के खिताब को हासिल किया। सिंधु ने फाइनल में जापान की नोजोमी ओकुहारा को 21-7, 21-7 से हराकर यह खिताबी सफलता हासिल की। यह सिंधु का पहला प्रमुख सिंगल्स खिताब है।

24 वर्षीय सिंधु का पिछले कई वर्षों से इंटरनेशनल बैडमिंटन में दबदबा रहा है लेकिन वे ओलिंपिक्स, वर्ल्ड चैंपियनशिप, एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स जैसे बड़े इवेंट्स में अभी तक सिंगल्स खिताब नहीं जीत पाई थी। वे इन इवेंट्स के फाइनल में कई बार पहुंची थी लेकिन हर बार उन्हें निराश होना पड़ रहा था। उन्होंने बासेल में धमाकेदार प्रदर्शन के सिलसिले को जारी रखते हुए आखिरकार इस मिथक को तोड़ ही दिया।

वर्ल्ड चैंपियनशिप में पांच पदकों की खास उपलब्धि :

सिंधु वर्ल्ड चैंपियनशिप में पांच पदक हासिल करने वाले चुनिंदा खिलाड़ियों के समूह में शामिल है। उन्होंने 2013 और 2014 में कांस्य पदक हासिल किए थे। उन्होंने इसके बाद 2017 और 2018 में रजत पदक अपनी झोली में डाले। वे इस बार अपने पदक का रंग बदलने में कामयाब रही और उन्होंने स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया।

सिंधु को 2018 के रियो ओलिंपिक्स के फाइनल में स्पेन की केरोलिना मारिन के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। वे इसके अलावा वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपिनशिप में पिछले दो सालों से फाइनल में पहुंच रही थी लेकिन उन्हें निराशा हाथ लग रही थी। 2017 में ग्लासगो में उन्हें ओकुहारा ने मैराथन मुकाबले में हराया था तो पिछले साल नानजिंग में उन्हें केरोलिना मारिन के हाथों शिकस्त झेलनी पड़ी थी। वे 2018 में जकार्ता एशियन गेम्स में भी उपविजेता बनी थी। कॉमनवेल्थ गेम्स की बात की जाए तो उन्हें 2018 में गोल्ड कोस्ट में महिला सिंगल्स में रजत पदक पर संतोष करना पड़ा था जबकि 2014 में गोल्ड कोस्ट में वे कांस्य पदक ही जीत पाई थी।

सिंधु 2011 में कॉमनवेल्थ यूथ गेम्स में स्वर्ण पदक जीतकर सुर्खियों में आई थी। उन्होंने 2011 में एशियन जूनियर चैंपियनशिप में रजत पदक जीता और 2012 में वे एशियन जूनियर चैंपियन बन गई। उन्होंने 2013 और 2014 में वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप में कांस्य पदक हासिल किए।

सिंधु की प्रमुख उपलब्धियां

ओलिंपिक

रजत पदक 2016 रियो डी जनेरियो महिला सिंगल्स

वर्ल्ड चैंपियनशिप

स्वर्ण 2019 बासेल महिला सिंगल्स

रजत 2017 ग्लासगो महिला सिंगल्स

रजत 2018 नानजिंग महिला सिंगल्स

कांस्य 2013 ग्वांगझू महिला सिंगल्स

कांस्य 2014 कोपनहेगन महिला सिंगल्स

उबेर कप

कांस्य 2014 नई दिल्ली महिला टीम

कांस्य 2016 कुन्शान महिला टीम

एशियन गेम्स

रजत 2018 जकार्ता-पालेमबांग महिला सिंगल्स

कांस्य 2014 इंचियोन महिला टीम

कॉमनवेल्थ गेम्स

गोल्ड 2018 गोल्ड कोस्ट मिक्स्ड टीम

रजत 2018 गोल्ड कोस्ट महिला सिंगल्स

कांस्य 2014 ग्लासगो महिला सिंगल्स