CWG 2022, Jeremy Lalrinnunga: कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को पांचवां मेडल मिल चुका है। 19 साल के जेरेमी लालरिनुंगा ने वेटलिफ्टिंग में 5वां पदक दिलाया है। जेरेमी ने 67 किग्रा भारवर्ग में 300 किलोग्राम भार उठाकर गोल्ड मेडल जीता है। उन्होंने स्नैच में कॉमनवेल्थ रिकॉर्ड बनाते हुए 140 किग्रा वेट उठाया। उन्होंने पहले प्रयास में 136 किलोग्राम वजन उठाया था। दूसरे प्रयास में 140 किलोग्राम वजन उठाया। हालांकि तीसरे प्रयास में 143 किलोग्राम वजन नहीं उठा पाए थे। इसके बाद क्लीन एंड जर्क में उन्होंने 154 किलोग्राम वेट उठाया। दूसरे प्रयास में 160 किलोग्राम वजन उठाया। उन्होंने तीसरे प्रयास में 165 किलोग्राम वजन उठाने की कोशिश की, लेकिन असफल रहे। समोआ के वैपावा नेवो ने स्नैच में 127 किग्रा और क्लीन एंड जर्क में 166 किग्रा वजन उठाकर सिल्वर पदक अपने नाम किया। वहीं नाइजीरिया के इडिडोंग ने स्नैच में 130 और क्लीन एंड जर्क में 160 किग्रा वेट उठाकर कांस्य पदक जीता।

मुक्केबाजी छोड़ वेटलिफ्टिंग में बनाया करियर

जेरेमी लालरिनुंगा ने छह साल की उम्र में अपने पिता के मार्गदर्शन में मुक्केबाजी का प्रशिक्षण शुरू किया था। उनके पिता नेशनल बॉक्सर थे। बाद में जेरेमी ने भारोत्तोलन में अभ्यास करना शुरू किया। उन्होंने विजय शर्मा से प्रशिक्षण किया। बाद में पुणे के आर्मी स्पोर्ट्स इंस्टीट्यूट में ट्रेनिंग शुरू की। जेरेमी ने 2016 से प्रतियोगिताओं में भाग लेना शुरू कर दिया था।

15 साल की उम्र में बनाया था रिकॉर्ड

जेरेमी लालरिनुंगा युवा ओलंपिक में स्वर्ण मेडल जीतने वाले पहले भारतीय हैं। उन्होंने 2018 में युवा ओलंपिक में 62 किग्रा स्पर्धा में 274 वजन उठाया था। उस समय उनकी उम्र 15 साल थी। जेरेमी का बेस्ट प्रदर्शन (140 किग्रा+166 किग्रा) कुल 306 किग्रा है।

सेना और राष्ट्रपति ने दी बधाई

जेरेमी लालरिनुंगा की जीत पर देश में खुशी का माहौल है। भारतीय सेना, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथंगा ने वेटलिफ्टिंग में गोल्ड मेडल जीतने के लिए उन्हें बधाई दी।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close