Commonwealth Games 2022: बजरंग पूनिया (Bajrang Punia) ने इतिहास रच दिया है। उन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स में दूसरी बार देश को गोल्ड मेडल दिलाया है। साथ ही भारत को बर्मिंघम गेम्स में सातवां और कुश्ती में पहला स्वर्ण पदक मिल गया है। गत चैम्पियन बजरंग ने फ्रीस्टाइल 65 किलो भारवर्ग के फाइनल में कनाडा के एल.मैकलीन को 9-2 से मात दी है। पहला हाफ में बजरंग पूनिया ने चार अंक लिए। दूसरे हाफ में मैकलीन ने दो प्वांइट लेकर वापसी की, लेकिन भारतीय पहलवान ने आगे कोई मौका नहीं दिया। बजरंग पूनिया ने 2014 ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेलों में सिल्वर, 2018 गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण जीता था। अब एक बार फिर बर्मिंघम में गोल्ड मेडल अपने नाम किया।

बजरंग पूनिया की उपलब्धियां

बजरंग पूनिया ने अपने करियर में ओलंपिक में एक मेडल, विश्व चैंपियनशिप में तीन पदक, एशियन गेम्स में दो पदक और राष्ट्रमंडल खेलों में तीन मेडल जीते हैं। उन्होंने टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीता था। 2018 बुडापेस्ट वर्ल्ड चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल अपने नाम किया था। इसके अलावा 2019 नूर सुल्तान वर्ल्ड चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था।

महिला पहलवानों का दमदार प्रदर्शन

वहीं महिलाओं के वर्ग में साक्षी मलिक (62 किग्रा) ने भी स्वर्ण पदक अपने नाम किया। अंशु मलिक ने 57 किग्रा वर्ग में रजत पदक जीता। अंशु को फाइनल में नाईजीरिया की ओडुनायो फोलासाडे एडुकुरोये से 3-7 से हार का सामना करना पड़ा।

दीपक पूनिया ने भी जीता गोल्ड

भारत के पहलवान दीपक पूनिया ने पाकिस्तान के मुहम्मद इनाम को हराकर गोल्ड मेडल जीता। दिव्या काकरान फ्रीस्टाइल 68 किग्रा क्वार्टर फाइनल में नाईजीरिया की ब्लेसिंग ओबोरूडुडू से 0-11 से और मोहित ग्रेवाल को 125 किग्रा फ्रीस्टाइल में कनाडा के अमरवीर धेसी से 2-12 से हार का सामना करना पड़ा। अब दोनों रेपचेज में कांस्य पदक के मुकाबले में खेलेंगे।

Posted By:

  • Font Size
  • Close