जकार्ता। भारत की स्टार शटलर पीवी सिंधु को रविवार को इंडोनेशिया ओपन बैडमिंटन चैंपियनशिप के फाइनल में जापान की अकाने यामागुची के हाथों हार का सामना करना पड़ा। यामागुची ने यह खिताबी मुकाबला 21-15, 21-16 से जीता।

पांचवें क्रम की सिंधु फाइनल में लय हासिल नहीं कर पाई और चौथे क्रम की जापानी खिलाड़ी से हार गई। सिंधु इससे पहले यामागुची को लगातार चार बार हरा चुकी थी लेकिन वे इस बार उनके सामने टिक नहीं पाई। यामागुची ने सेमीफाइनल में दुनिया की नंबर वन खिलाड़ी ताई जू यिंग को हराया था और उस जीत से उत्साहित होकर उन्होंने सिंधु को आसानी से हरा दिया।

सिंधु इस साल अभी तक एक भी खिताब जीत नहीं पाई है। वे पहली बार किसी टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची थी लेकिन इस खिताब को पहली बार हासिल करने से चूक गई। यदि सिंधु जीत जाती तो वे यह खिताब हासिल करने वाली दूसरी भारतीय महिला खिलाड़ी बन जाती।

ऐसा रहा था सेमीफाइनल में प्रदर्शन :

इससे पहले सिंधु ने सेमीफाइनल में चीन की चेन यूफेई को सीधे गेमों में 21-19, 21-10 से हराया था। यह मुकाबला 46 मिनट चला था। एक अन्य सेमीफाइनल में तीसरे क्रम की यामागुची ने शीर्ष क्रम प्राप्त और दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी ताई जू यिंग को हराकर बड़ा उलटफेर किया था। यामागुची ने यह मुकाबला मात्र 32 मिनटों में 21-9, 21-15 से जीतकर फाइनल में जगह बनाई थी।

सिंधु का जापानी खिलाड़ी यामागुची के खिलाफ प्रदर्शन शानदार रहा था। इस फाइनल से पहले इनके बीच हुए 14 मैचों में से सिंधु ने 10 जबकि यामागुची ने 4 मैच जीते थे। अब 15 मैचों में यामागुची 5 मैच जीत चुकी है।

सिंधु का इस टूर्नामेंट में प्रदर्शन

सिंधु ने पहले दौर में जापान की आया ओहोरी को 19-21, 21-15, 21-17 से हराया।

उन्होंने दूसरे दौर में डेनमार्क की मिया ब्लिचेल्ट को 21-14, 17-21, 21-11 से पराजित किया।

उन्होंने क्वार्टरफाइनल में जापान की नाओमी ओकुहारा को 21-14, 21-17 से शिकस्त दी।

भारतीय शटलर ने चीन की चेन यूफेई को 21-19, 21-10 से हराकर फाइनल में जगह बनाई।

फाइनल में उन्हें अकाने यामागुची के हाथों 15-21, 16-21 से हार झेलनी पड़ी।