लॉस एंजिलिस। Kobe Bryant legacy: बास्केटबॉल कोर्ट पर जिनके एक-एक कदम से दुनिया हिलती थी। जब वह बास्केट में गेंद डालने के लिए उछलते थे तो प्रशंसकों की सांसें थम जाती थीं। भले ही वह भारत नहीं आए लेकिन यहां पर भी उनके लाखों प्रशंसक थे। रविवार सुबह (अमेरिकी समयानुसार) जब बास्केटबॉल के अमेरिकी लीजेंड कोबे ब्रायंट के हेलिकॉप्टर के कैलिफोर्निया के कैलाबसास में दुर्घटनाग्रस्त होने की खबर आई तो डोनाल्ड ट्रंप और बराक ओबामा से लेकर सचिन तेंडुलकर और क्रिस्टियानो रोनाल्डो तक गमगीन हो गए।

अमेरिका की सबसे बड़ी नेशनल बॉस्केटबॉल एसोसिएशन (एनबीए) लीग के 41 वर्षीय दिग्गज ब्रायंट और उनकी 13 वर्षीय बेटी गियाना सहित कुल 9 लोग सिकोर्सकी एस-76 चॉपर में सवार थे। लास एंजिलिस अथॉरिटी के अनुसार ब्रायंट के निजी हेलिकॉप्टर में सवार सभी 9 लोगों का निधन हो गया। वह थाउसंड ऑक शहर जा रहे थे जहां उन्हें अपनी बेटी की टीम को कोचिंग देनी थी। अमेरिका के एक अधिकारी का कहना है कि रविवार को धुंध बहुत थी और यह दुर्घटना की बड़ी वजह हो सकती है। जांच चल रही है।

23 साल की उम्र में उपलब्धि

कोबे बीन ब्रायंट पूर्व एनबीए खिलाड़ी जो 'जेलीबीन" ब्रायंट के बेटे थे। 23 अगस्त 1978 को फिलाडेल्फिया में जन्में ब्रायंट ने शाकिल ओ नील के साथ मिलकर एनबीए टीम लास एंजिलिस लेकर्स को 2000, 2001 और 2002 में एनबीए खिताब दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी। वह 23 साल की उम्र में तीन खिताब जीतने वाले सबसे युवा खिलाड़ी बने। ओ नील ने ब्रायंट के साथ झगड़े के कारण लेकर्स को छोड़ दिया। इससे ब्रायंट का खेल भी प्रभावित हुआ और स्पेन के पाउ गैसोल के लेकर्स में आने तक उनकी टीम कोई खिताब नहीं जीत पाई।

विशिष्ट उपलब्धि

- ब्रायंट ने अपने शानदार करियर में कुल 33 643 अंक बनाए। उन्हें 18 बार एनबीए ऑल स्टार चुना गया। ब्रायंट को 2008 में एनबीए का सबसे उपयोगी खिलाड़ी चुना गया था।

- 2008 और 2012 में ब्रायंट की अगुआई में अमेरिका की पुरुष बास्केटबॉल टीम ने ओलिंपिक स्वर्ण पदक जीते थे

नहीं भुलाया जा सकता प्रदर्शन

22 जनवरी 2006 को टोरंटो रैप्टर्स के खिलाफ उनके प्रदर्शन को कोई नहीं भुला सकता, जब उन्होंने 81 अंक बनाए। उनसे अधिक अंक एक मैच में केवल विल्ट चैंबरलेन (100 अंक) ने 1962 में बनाए थे। ब्रायंट को 2008 में एनबीए का सबसे उपयोगी खिलाड़ी चुना गया था। संन्यास लेने के बाद उन्होंने बच्चों के लिए किताबें लिखीं। 'डियर बॉस्केटबॉल" फिल्म की स्क्रिप्ट भी उन्होंने ही लिखी थी।

Posted By: Rahul Vavikar

fantasy cricket
fantasy cricket