नई दिल्ली। दो बार की कॉमनवेल्थ गेम्स चैंपियन पहलवान विनेश फोगाट ने कहा कि यदि भारत को ओलिंपिक में कुश्ती में पदक चाहिए तो पहलवानों को बेहतर सुविधा देनी होगी।

विनेश ने कहा है कि भारत पहलवानों से ओलंपिक में पदक की उम्मीद करता है लेकिन विश्वस्तरीय सुविधाएं नहीं होने के कारण चैंपियन पहलवान बाहर नहीं निकल पाते। ट्रेनिंग के हालात में भी थोड़ा सुधार आ रहा है।

23 वर्षीय विनेश अभी शानदार फॉर्म में हैं। उन्होंने गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स और स्पेन में हुई ग्रांप्रि में स्वर्ण पदक जीता था। उन्होंने कहा, ‘अभी हमारे सामने एशियन गेम्स है और फिर विश्व चैंपियनशिप लेकिन चीजें अभी भी पहले की तरह जहां थी, वहीं है। ट्रेनिंग सेंटर में खाने की गुणवत्ता पहले से बेहतर हुई है लेकिन कई चीजों में बदलाव की जरूरत है। यदि आप ओलंपिक पदक चाहते हो तो आपको भी अंतरराष्ट्रीय सुविधाएं भी देनी होगी।

इसके साथ ही विनेश ने कहा कि, मैं कुछ समय ट्रेनिंग से भी दूर रही। मैंने हंगरी में अच्छी तैयारी की और कई छोटी चीजों पर काम किया। जिसका फायदा मुझे कॉमनेवल्थ गेम्स और ग्रांप्रि में स्वर्ण जीतकर मिला।

Posted By:

  • Font Size
  • Close