Neeraj Chopra VIDEO: टोक्यो ओलिंपिक के स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा ने शुक्रवार को स्विट्जरलैंड के लुसाने में हुए डायमंड लीग में जीत हासिल कर इतिहास रच दिया। वह पहले भारतीय हैं जिन्होंने डायमंड लीग जीता है। नीरज ने इसके साथ ही सात और आठ सितंबर को ज्यूरिख में होने वाले डायमंड लीग के लिए भी क्वालीफाई किया। 24 वर्षीय नीरज ने पहले ही प्रयास में बढ़त हासिल कर ली और उन्होंने दूसरे प्रयास में 85.18 मीटर का थ्रो फेंका। उन्होंने तीसरे प्रयास में हिस्सा नहीं लिया और चौथा प्रयास फाउल हुआ। नीरज ने फिर पांचवां प्रयास छोड़ा, जबकि छठे और अंतिम प्रयास में उन्होंने 80.04 मीटर का थ्रो किया। शीर्ष तीन में रहने वालों को ही छठा प्रयास मिलता है।

नीरज छह में से तीन प्रयास में ही स्कोर कर पाए, लेकिन अपने पहले प्रयास के दम पर शुरुआत से लेकर आखिर तक बढ़त बनाए रहे। टोक्यो ओलिंपिक के रजत पदक विजेता जाकुब वादलेजक 85.88 मीटर के सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ दूसरे, जबकि अमेरिका के कुरतिस थांप्सन 83.72 मीटर के सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ तीसरे स्थान पर रहे।

नीरज विश्व चैंपियनशिप के बाद यहां अपने पहले टूर्नामेंट में खेलने उतरे थे। उन्होंने चोटिल होने के कारण कामनवेल्थ गेम्स में हिस्सा नहीं लिया था।

- 89.08 मीटर का थ्रो नीरज ने पहले प्रयास में किया, यह उनके करियर का तीसरा सर्वश्रेष्ठ थ्रो है

- 89.94 मीटर नीरज का सर्वश्रेष्ठ थ्रो है जो राष्ट्रीय रिकार्ड भी है

- 85.20 मीटर के क्वालीफाइंग मार्क को पार करने के साथ ही नीरज ने 2023 विश्व चैंपियनशिप के लिए क्वालीफाई किया

पहले भारतीय बने नीरज

हरियाणा में पानीपत के पास खंडरा गांव का रहने वाला यह युवा डायमंड लीग का ताज जीतने वाला पहला भारतीय बना है। नीरज चोपड़ा से पहले डिस्कस थ्रोअर विकास गौड़ा डायमंड लीग मीटिंग में शीर्ष तीन में रहने वाले एकमात्र भारतीय हैं। गौड़ा दो बार, 2012 में न्यूयॉर्क में और 2014 में दोहा में दूसरे और 2015 में शंघाई और यूजीन दो मौकों पर तीसरे स्थान पर रहे थे।

टोक्यो ओलंपिक के रजत पदक विजेता जैकब वाडलेज 85.88 मीटर के सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ दूसरे स्थान पर रहे, जबकि यूएसए के कर्टिस थॉम्पसन 83.72 मीटर के सर्वश्रेष्ठ प्रयास के साथ तीसरे स्थान पर रहे।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close