भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) ने अभ्यास के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) की घोषणा की लेकिन यह नहीं बताया कि कोरोना वायरस महामारी के बीच अभ्यास कब बहाल होगा। इसके साथ ही संपर्क खेलों में स्पारिंग (अभ्यास के साथी) के इस्तेमाल पर भी रोक लगा दी गई है, इसके तहत रिले अभ्यास में बेटन एक-दूसरे के हाथ में नहीं दे सकेंगे। मुक्केबाजी और कुश्ती में अभ्यास के लिए साथी नहीं मिलेगा।

गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन 4.0 में खेल परिसरों और स्टेडियमों के इस्तेमाल की अनुमति दे दी है। SAI ने हालांकि इन सवालों का जवाब नहीं दिया कि अभ्यास कब शुरू होगा। साई के सचिव रोहित भारद्वाज ने कहा, 'अभ्यास की बहाली स्थानीय प्रशासन की सहमति पर निर्भर करेगी। हर इस्तेमाल के बाद अभ्यास के उपकरणों को संक्रमण रहित किया जाएगा। अभ्यास के साथी के इस्तेमाल पर रोक रहेगी और जिम का प्रयोग बारी-बारी से किया जाएगा।' गृह और खेल मंत्रालय से मंजूरी मिलने के बाद यह एसओपी जारी किया गया।

भारद्वाज की अगुआई में छह सदस्यीय समिति ने प्रोटोकॉल की अध्यक्षता की। इसके तहत सभी खिलाड़ियों और स्टाफ के लिए आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल जरूरी रहेगा। इसके साथ ही शारीरिक दूरी के नियम का कड़ाई से पालन करना होगा। खिलाड़ियों की सेहत को ध्यान में रखकर सफाई के चाक चौबंद उपाय किए जाएंगे।

SOP के तहत इंडोर बैडमिंटन कोर्ट पर सिर्फ सिंगल्स खिलाड़ी अभ्यास करेंगे। एथलेटिक्स, हॉकी, बैडमिंटन, मुक्केबाजी और निशानेबाजी समेत 11 खेलों में आउटडोर अभ्यास की अनुमति दे दी गई है। भारोत्तोलक, तीरंदाज, साइकिलिस्ट, तलवारबाज, पहलवान और टेबल टेनिस खिलाड़ी भी सुरक्षा उपायों के साथ अभ्यास कर सकते हैं। इसके साथ ही संपर्क खेलों में स्पारिंग (अभ्यास के साथी) के इस्तेमाल पर भी रोक लगा दी गई है जबकि स्विमिंग पूल का इस्तेमाल अभी नहीं कर सकेंगे।

भारतीय ओलिंपिक संघ में ट्रेनिंग पर हुआ मतभेद:

भारतीय ओलिंपिक संघ (IOA) के अध्यक्ष नरेंद्र बत्रा और महासचिव राजीव मेहता के बीच खिलाडि़यों की ट्रेनिंग को लेकर मतभेद होने लगे हैं। मेहता ने कहा, 'जब कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं तो हमें ट्रेनिंग को फिर से शुरू करने की जल्दी क्यों हैं। उम्मीद की जा रही है कि आगामी महीनों में कोरोना के मामले और बढ़ेंगे। ये एथलीट हमारे राष्ट्रीय खजाना है और उनका स्वास्थ्य हमारे लिए पहली प्राथमिकता है। उन्हें फिर से ट्रेनिंग शुरू करने का दबाव बनाना सही नहीं है। अगर उनमें से किसी को कोरोना हो गया तो उसका जिम्मेदार कौन होगा।'

Posted By: Kiran K Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना