मुंबई, 1 अगस्त। भारत में इंडियन प्रीमियर लीग के बाद यदि किसी खेल को फ्रेंचाइजी बेस्ड लीग में सबसे ज्यादा नाम मिला है, तो वह है प्रो कबड्डी लीग। वर्ष 2014 में शुरू हुआ यह सफर आठ सफल सीजन के बाद 9वें सीजन में जा पहुँचा है, जिसे लेकर जोर-शोर से तैयारियाँ शुरू हो चुकी हैं। इसी बीच प्रो कबड्डी लीग के आयोजक ने 9वें सीजन के लिए खिलाड़ियों की नीलामी की आधिकारिक तारीख का ऐलान कर दिया है। जिसका आयोजन मुंबई में किया जाएगा।

इसे लेकर देश के पहले बहुभाषी माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म, कू ऐप पर सुल्तान के नाम से मशहूर ईरानी कबड्डी खिलाड़ी फजल अत्राचली के नाम का जोरों से डंका बज रहा है। इस विषय पर स्टार स्पोर्ट्स इंडिया ने कू करते हुए कहा है:

सुल्तान फ़ज़ल ने #vivoPKLPlayerAuction 2022 में 🦁 की तरह दहाड़ लगाई!

आप किस #vivoProKabaddi टीम में डिफेंडर को देखना चाहते हैं?

@prokabaddi | अगस्त 5, 6:30 अपराह्न | स्टार स्पोर्ट्स नेटवर्क और डिज्नी+हॉटस्टार

Koo App

इस नीलामी में ईरानी कबड्डी खिलाड़ी फजल अत्राचली विदेशी खिलाड़ी के रूप में मौजूद होंगे और आने वाले सीजन में कौन उनके लिए बोली लगाता है, देखने वाली बात होगी। इस बोली का ट्रेलर एक्सक्लूसिव रूप से कू ऐप पर रिलीज किया गया है, जिसमें इस सीजन के लिए खिलाड़ियों को फाइनल किए जाने से पहले सुल्तान दहाड़ते नजर आ रहे हैं। फजल को प्रो कबड्डी लीग का बाघ भी कहा जाता है। वह इस खेल में दूसरे नंबर के डिफेंडर है, जो इस बार नीलामी के लिए मौजूद रहेंगे। अपने जबर्दस्त खेल के लिए इस सीजन में वह निश्चित रूप से सबसे मजूबत खिलाड़ियों में से एक होंगे।

खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी 2021 गेम्स के टॉपर भी होंगे शामिल

प्रो कबड्डी लीग के 9वें सीजन के लिए खिलाड़ियों की नीलामी का आयोजन 5-6 अगस्त को किया जाएगा। इसमें 12 फ्रेंचाइजी बोली लगाते नजर आएंगे। उल्लेखनीय है कि प्रो कबड्डी लीग के दौरान एक फ्रेंचाइजी कम से कम 18 तो अधिकतम 25 खिलाड़ियों पर दाँव लगा सकता है। इसे लेकर हर टीम के पास में 4.4 करोड़ रुपये की रकम रहेगी। 9वें सीजन की नीलामी के लिए खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी 2021 गेम्स के टॉप 2 में शामिल 24 खिलाड़ियों को भी पहली बार शामिल किया जा रहा है।

4 कैटेगरी में की जाएगी खिलाड़ियों की नीलामी

नीलामी के लिए खिलाड़ियों को प्रमुख रूप से तीन कैटेगरी में बाँटा जाएगा, जिनमें डोमेस्टिक, ओवरसीज और न्यू यंग प्लेयर्स (एनवाईपी) शामिल हैं। इसके बाद चार सब-कैटेगरी- ए, बी, सी और डी बनाई जाएँगी और आगे प्रत्येक कैटेगरी में खिलाड़ियों को 'ऑलराउंडर', 'डिफेंडर्स' और 'रेडर्स' के रूप में बांटा जाएगा।

हर कैटेगरी के लिए आधार मूल्य कुछ इस प्रकार रखा गया है:-

कैटेगरी ए- 30 लाख रुपये

कैटेगरी बी- 20 लाख रुपये

कैटेगरी सी- 10 लाख रुपये

कैटेगरी डी- 6 लाख रुपये

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close