Thomas Cup Badminton: थॉमस कप बैडमिंटन टूर्नामेंट में टीम इंडिया ने इतिहास रच दिया। टीम ने पहली बार फाइनल खिताब जीतकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया। भारत ने इंडोनेशिया के खिलाफ मैच में 3-0 की अजेय बढ़त बनाई। वह 14 साल की डिफेंडिंग चैंपियन को हराया। पहला मैच में लक्ष्य सेन ने एंथोनी सिनिसुका को 8-21, 21-17, 21-16 से हराया। दूसरे मुकाबले में डबल्स में सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी ने 18-21, 23-21, 21-19 से जीत लिया। तीसरा मैच सिंगल्स में किदांबी श्रीकांत और जोनातन क्रिस्टी के बीच खेला गया। जिसमें किदांबी ने क्रिस्टी को 21-15, 23-21 से हराया। टीम इंडिया ने मलेशिया और डेनमार्क को हराकर पहली बार फाइनल में जगह बनाई है। भारतीय टीम में मध्‍य प्रदेश के धार के प्रियांशु राजावत भी शामिल हैं।

पीएम मोदी ने दी बधाई

इस जीत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टीम को बधाई दी। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि भारत के थॉमस कप जीतने से पूरा देश उत्साहित है। हमारी कुशल टीम को बधाई और उनके भविष्य के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं। यह जीत आगामी खिलाड़ियों को प्रेरित करेगी।

चिराग-सात्विक ने जीता दूसरा मैच

दूसरे डबल्स मैच में भारतीय जोड़ी चिराग शेट्टी और सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी का मुकाबला केविन संजाया और मोहम्मद अहसान की जोड़ी के साथ हुआ। मैच बेहद रोमांचक रहा। पहला सेट इंडोनेशियन जोड़ी ने 21-18 से जीता। दूसरे सेट में भारतीय टीम ने 23-21 से सेट जीतकर बाजी पलट दी। इसके बाद तीसरा सेट भी चिराग-सात्विक ने 21-19 से जीत लिया।

लक्ष्य सेन ने एंथोनी को हराया

लक्ष्य सेन और एंथोनी सिनिसुका के बीच मुकाबला रोमांच रहा। पहला सेट एंथोनी ने 21-8 से जीता। दूसरा सेट 21-17 से जीतकर लक्ष्य ने मैच बराबर किया। तीसरे सेट 21-16 से जीतकर लक्ष्य ने मैच अपने नाम किया। बता दें इंडोनेशिया का टूर्नामेंट में प्रदर्शन शानदार रहा है। टूर्नामेंट में अजेय रही है। भारतीय टीम को शिकस्त ग्रुप स्टेज में चीनी ताइपे के खिलाफ मिली थी।

फाइनल मैच के लिए भारतीय टीम

सिंगल- लक्ष्य सेन, किदांबी श्रीकांत, एचएस प्रणय, प्रियांशु राजावती।

डबल्स- सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी-चिराग शेट्टी, विष्णुवर्धन गौड़-कृष्ण प्रसाद गारगा, एमआर अर्जुन-ध्रुव कपिला।

Posted By:

  • Font Size
  • Close