ऑस्ट्रेलिया की जेसी फॉक्स टोक्यो ओलंपिक्स 2020 में कांस्य पदक जीत चुकी हैं, लेकिन आपको शायद ही अंदाजा होगा कि इन्होंने कैनो स्लेलम में इस्तेमाल होने वाले कायक बोट को ठीक करने के लिए कंडोम का इस्तेमाल किया था। फॉक्स ने अपने इंस्टाग्राम पेज पर एक वीडियो शेयर किया़ है। इस वीडियो में साफ दिख रहा है कि फॉक्स के क्रू का एक सदस्य उनकी कश्ती को ठीक करने की कोशिश कर रहा है। कुछ देर बाद वो इसे ठीक करने के लिए कंडोम का इस्तेमाल करती हैं।

फॉक्स ने यह वीडियो शेयर करते हुए लिखा "मुझे उम्मीद है कि आप लोग शायद नहीं जानते होंगे कि एक कंडोम को कायक बोट्स को रिपेयर के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। ये कार्बन को काफी स्मूद फिनिश देता है।" फॉक्स का ये वीडियो काफी वायरल हो रहा है और इस कंडोम की मदद से वे ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने में भी कामयाब रहीं हैं।

तीसरे स्थान पर रहीं फॉक्स

सिडनी में रहने वाली 27 साल की फॉक्स टोक्यो ओलंपिक के कैनोन स्लेलम इवेंट में 106.73 टाइम के साथ तीसरे स्थान पर रहीं। फॉक्स से इस ओलंपिक्स में गोल्ड की उम्मीद लगाई जा रही थी। इसी वजह से कांसा जीतने के बाद वो काफी निराश नजर आईं। हालांकि अभी उनका एक इवेंट बचा हुआ है। फॉक्स इस रेस में सबसे तेज थीं लेकिन टाइम पेनाल्टी के चलते उन्हें तीसरा स्थान मिला।

तीन बार की चैंपियन हैं फॉक्स

फॉक्स ने तीन बार कैनोन स्लेलम K1 जीता है। उन्होंने साल 2012 में लंदन ओलंपिक्स में सिल्वर पदक हासिल किया था। इसके बाद साल 2016 में रियो ओलंपिक्स में भी उन्होंने कांस्य पदक जीता था। फॉक्स के पिता भी ओलंपिक गेम्स में हिस्सा ले चुके हैं। उन्होंने ग्रेट ब्रिटेन के लिए साल 1992 में बार्सिलोना ओलंपिक में हिस्सा लिया था और चौथा स्थान हासिल किया था। वे पांच बार के विश्व चैंपियन थे।

फॉक्स की मां भी हैं ओलंपियन

फॉक्स की मां मरियम भी ओलंपिक में भाग ले चुकी हैं। उन्होंने फ्रांस के लिए साल 1992 में बार्सिलोना ओलंपिक और साल 1996 में अटलांटा ओलंपिक में हिस्सा लिया था। अटलांटा ओलंपिक में उनकी मां ने कांस्य पदक जीता था। वो भी दो बार विश्व चैंपियन रह चुकी हैं। फॉक्स की तरह उनके माता-पिता भी कैनो स्लेलम एथलीट थे।

Posted By: Arvind Dubey