Tokyo Olympics Hockey: ये भारत के लिए बड़े ही गर्व की बात है कि पहली बार सेमीफाइनल में भारतीय महिला हाॅकी टीम ने बड़ी हिम्मत और जोश के साथ कदम रखा है। इतिहास में पहली बार ऐसा होने जा रहा है कि भारतीय महिला हाॅकी टीम 4 अगस्त बुधवार यानी आज अर्जेंटीना के खिलाफ सेमीफाइनल में उतरेगी। यह मैच आज दोपहर 3ः30 मिनट पर खेला जाएगा। टोक्यो ओलंपिक में पुरूष हाॅकी टीम के सेमीफाइनल में हारने के बाद अब सबकी निगाहें महिला हाॅकी टीम पर टिकी हुई हैं। देश के सभी नागरिक भारतीय टीम की जीत के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।

भारतीय महिला टीम पहुंची अपने सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग पर

जहां भारत पुरूष हाॅकी टीम ने सेमीफाइनल में शिकस्त हासिल की है तो वहीं अब भारतीय महिला हाॅकी टीम बुधवार को अंर्जेंटीना के खिलाफ खेले जा रहे सेमीफाइनल मैच में पुरूष हाॅकी टीम की उपलब्धियों को पार करने की कोशिश करेगी। बतादें कि पुरूष टीम मंगलवार को सेमीफाइनल में दुनिया की नंबर वन बेल्जियम से 2-5 से हार गई थी। यहां भारतीय महिला टीम प्रदर्शन के आधार पर विश्व रैंकिंग में सातवें स्थान पर पहुंच गई, ये उनकी अब तक की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग थी। लेकिन विश्व की दूसरे नंबर की टीम अर्जेंटीना भारतीय महिलाओं के लिए एक बड़ी चुनौती है। गोलकीपर सविता की अगुवाई में भारतीय डिफेंस ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना शानदार प्रदर्शन करते हुए 22 मिनट के गोल का बचाव कर जीत दर्ज की।

भारतीय महिला टीम की खिलाड़ी गुरजीत, दीप ग्रेस एक्का, मोनिका और उदिता जैसे खिलाड़ियों को लास लियोनस को रोकरने के लिए इसी तरह के प्रयास करने होगें, जिनकी निगाहें यहां अपने पहले ओलंपिक पर होगी। अर्जेंटीना की महिला टीम ने वर्ष 2000 सिडनी ओर 2012 के लंदन खेलों में दो रजत पदक जीते हैं लेकिन अब तक उन्हें स्वर्ण पदक नहीं मिला। ऐसे में अर्जेंटीना भी अपनी नई रणनीति के साथ भारत का पुरजोर विरोध करने के लिए तैयार है।

भारतीय महिला टीम की रणनीति

वैसे तो भारत का पेनल्टी काॅर्नर पर गोल दागने का औसत बहुत खराब है, लेकिन महिला टीम ने क्वार्टर फा़इनल में मिले मौके का फायदा उठाया था। गुरजीत कौर ने बेहतरीन ड्रैग फ्लिक के जरिए जो गोल दागा, वह आखिर में निर्णायक साबित हुआ और इस गोल ने मैच को एक नए मुकाम पर लाकर खड़ा कर दिया। इसका मतलब यह है कि अगर सेमीफाइनल में फिर से भारतीय महिला टीम को ऐसा मौका मिला तो उन्हें इसी अंदाज में अपना निर्णय लेकर पेनल्टी काॅर्नर को गोल में बदलने की काबिलियत फिर से दिखानी होगी। मजबूत टीम के सामने ज्यादा मौके नहीं मिलते हैं इसलिए उनके लिए एक मौका भी सुनहरे अवसर से कम नंही होगा।

भारत की हाॅकी महिला टीम आज सेमीफाइनल में अर्जेंटीना से भिड़ने वाली है। भारत के लिए ये विरोधी टीम बहुत ही आक्रामक खेल के लिए जानी जाती है। ऐसे में भारतीय रक्षा पंक्ति को मुस्तैद रहना होगा। जहां भारतीय पुरूष हाॅकी टीम के गोलकीपर श्रीजेश को ‘दीवार’ कहा जाता है, लेकिन टोक्यों ओलंपिक में महिला हाॅकी टीम की गोलकीपर सविता ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मुकाबले में ऐसा जबरदस्त प्रदर्शन किया कि मानों खुद को उन्होंने ‘दीवार’ साबित किया। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया खिलाड़ी के सामने कई शानदार बचाव किए। लेकिन इस मैच में टीम को पूरी रक्षा पंक्ति को मजबूत करना होगा।

ट्रायल मैच में अर्जेंटीना ने दी थी भारत को शिकस्त

हाल ही में जब भारत अर्जेंटीना के दौरे पर था तो वहां भारत की हार अर्जेंटीना के हौंसले को बढ़ाती है। दरअसल इस साल की शुरूआत में ओलंपिक से पहले भारतीय महिला टीम ने खेलों की तैयारी के तहत अर्जेंटीना का दौरा किया था। यहां पर भारत ने सात मैच खेले जिसमें से पहले दो मैच अर्जेंटीना की युवा टीम के खिलाफ खेला गया जहां 2-2 और 1-1 से इसे ड्रा किया गया। इसके बाद भारत ने अर्जेंटीना की बी टीम के खिलाफ दो मैच खेले और क्रमशः 1-2 और 2-3 दोनों में भारत को हार का सामना करना पड़ा।

Posted By: Arvind Dubey