महान फुटबॉलर डिएगो मैराडोना की पहली बरसी से ठीक दिन दो पहले वो फिर चर्चा में हैं। क्यूबा की एक महिला ने उन पर रेप का आरोप लगाया है। महिला का नाम मैविस अल्वारेज हैं। मैविस ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि जब वो 15 साल की थीं तो मैराडोना ने उनका रेप किया, बचपन छीन लिया और कोकीन का आदी बना डाला। इस कॉन्फ्रेंस में मैविस ने मैराडोना के साथ अपनी तस्वीरें भी दिखाईं।

मैराडोना की मौत पिछले साल 25 नवंबर को हुई थी। मौत की बरसी ने पहले मैविस ने अपनी कहानी सुनाई। उन्होंने कहा - 20 साल पहले मैराडोना से मेरे संबंध थे। यह रिश्ता 4-5 साल चला। जब मैराडोना से मिली थीं, तब मैं नाबालिग थी। उस वक्त मैराडोना 40 साल के थे। उन दिनों वो क्यूबा में अपनी ड्रग की लत का इलाज करवा रहे थे। मैं मैराडोना बहुत प्रभावित हो गई थी। मैं उनके झांसे में आ गई, लेकिन दो महीने बाद ही चीजें बदलने लगीं। मैराडोना ने मुझे जबरन कोकीन की लत लगाई। मैं उनसे जितना प्यार करती थी, उतनी ही नफरत करने लगी थी। मैंने जान देने के बारे में भी सोचा था।

वो आगे बताती हैं - 2001 में मैंने मैराडोना के साथ ब्यूनस आयर्स की यात्रा की थी। तब मैराडोना की टीम ने मुझे जबरदस्ती एक होटल में बंद रखा। मैं अकेले बाहर नहीं जा सकती थी। मुझे ब्रेस्ट ऑपरेशन करवाने के लिए मजबूर किया गया। हवाना के घर में मैराडोना ने मुझसे बलात्कार किया। इसके बाद तो कई बार मारपीट भी की।"

शिकायत दर्ज हुई

बता दें कि मैविस ने मैराडोना के खिलाफ शिकायत दर्ज नहीं करवाई है। उनके इस बयान के बाद अर्जेंटीना के एनजीओ 'फाउंडेशन फॉर पीस' ने मैराडोना और उनकी टीम पर हैरेसमेंट और मानव तस्करी को लेकर शिकायत दर्ज कराई है। मैविस आगे एक्शन नहीं लेंगी, वो अदालत पर बात छोड़ती हैं। उन्होंने अपने बयान देने के पीछे तर्क दिया है कि वो चाहती हैं कि लड़कियों में हिम्मत बढ़े और उनके साथ जो हुआ, वो किसी के साथ न हो। मैराडोना के दल के पांच सदस्यों ने अपने वकीलों के माध्यम से इन आरोपों का खंडन किया है, साथ ही एनजीओ पर उन्हें बदनाम करने का आरोप लगाया है।

Posted By: Sandeep Chourey