नूर सुल्तान। भारत की विनेश फोगाट ने बुधवार को इतिहास रचते हुए वर्ल्ड कुश्ती चैंपियनशिप में महिला फ्रीस्टाइल 53 किग्रा वर्ग में कांस्य पदक हासिल किया। विनेश ने कांस्य पदक के लिए खेले गए मुकाबले में यूनान की मारिया प्रिवोलाराकी को हराकर कांस्य पदक जीता। विनेश ने इस मुकाबले के लिए प्रवेश करते हुए टोक्यो ओलिंपिक 2020 का कोटा हासिल किया था। विनेश का यह वर्ल्ड चैंपियनशिप में पहला पदक है। इस चैंपियनशिप में यह भारत का भी पहला पदक है।

विनेश ने कांस्य पदक के लिए हुए मैच में मारिया के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया और शुरुआत से ही बढ़त बनाए रखी। उन्होंने यह मुकाबला 5-3 से जीता।

विनेश फोगाट ने रेपरेज में दूसरे राउंड में गत उपविजेता सारा हिल्डेब्रांट को हराकर कांस्य पदक के मुकाबले में प्रवेश किया। इसी के साथ विनेश ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 का कोटा हासिल कर लिया। विनेश टोक्यो ओलिंपिक का कोटा हासिल करने वाली भारत की पहली महिला पहलवान बन गई।

विनेश का फ्रीस्टाइल में महिला 53 किग्रा वर्ग में अब कांस्य पदक के लिए मुकाबला यूनान की मारिया प्रिवोलाराकी से होगा। दूसरे राउंड में हार चुकी विनेश को रेपचेज में खेलने का मौका मिला क्योंकि उन्हें हराने वाली मायु मुकाइडा ने फाइनल में जगह बनाई थी। विनेश ने रेपचेज के पहले मुकाबले में यूक्रेन की युलिया खालाद्जी को आसानी से 5-0 से हराया। उन्होंने इसी के साथ अपनी कांस्य पदक की उम्मीदों को बरकरार रखा। इसके बाद दूसरे राउंड में विनेश ने अमेरिका की दो बार की चैंपियन प्रिवोलाराकी को 8-2 से हराकर कांस्य पदक के मैच में जगह बनाई।

महिला 50 किग्रा वर्ग में भारत की सीमा बिस्ला के पास भी कांस्य पदक जीतने का मौका था लेकिन वे दूसरे मैच में पराजित हो गई। सीमा ने रेपचेज राउंड के पहले मैच में नाइजीरिया का एम मर्सी जेनेसिस को हराया। यह मैच 9-9 अंक से बराबर रहा था लेकिन इसके बाद सीमा को विजयी घोषित किया गया। सीमा का मुकाबला इसके बाद रूस की एकतेरिना पोलेस्चुक से था, इस मुकाबले में रूसी पहलवान ने सीमा को आसानी से 11-3 से हराकर ओलिंपिक कोटा हासिल कर लिया। सीमा यदि यह मैच जीत जाती तो वे कांस्य पदक के मैच में प्रवेश करने के साथ ही ओलिंपिक कोटा भी हासिल कर लेती।