नूर सुल्तान। भारत के दीपक पूनिया ने शनिवार को शानदार प्रदर्शन कर वर्ल्ड कुश्ती चैंपियनशिप के पुरुषों के 86 किग्रा फ्रीस्टाइल वर्ग के फाइनल में प्रवेश किया। पूनिया 2019 की वर्ल्ड चैंपियनशिप में फाइनल में पहुंचने वाले भारत के पहले पहलवान हैं।

इससे पहले सेमीफाइनल में पहुंचकर दीपक ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 का कोटा हासिल कर लिया था। दीपक के अलावा भारत के राहुल अवारे भी 61 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में पहुंचे थे, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा। राहुल अब रविवार को कांस्य पदक के लिए मुकाबला करेंगे। उनका ये वजन वर्ग ओलिंपिक में शामिल नहीं है, लिहाजा उन्हें कोटा नहीं मिल पाया।

दीपक इस चैंपियनशिप में ओलिंपिक कोटा हासिल करने वाले चौथे भारतीय पहलवान बन गए। उनसे पहले विनेश फोगाट, बजरंग पूनिया और रवि कुमार ओलिंपिक कोटा हासिल कर चुके थे।

जूनियर वर्ल्ड चैंपियन दीपक ने पहली बार सीनियर इवेंट में हिस्सा लेते हुए शानदार प्रदर्शन करते हुए फाइनल में प्रवेश किया। इसके साथ ही उन्होंने इस चैंपियनशिप में पहला रजत पदक पक्का कर लिया। सेमीफाइनल मुकाबले में दीपक ने स्विट्जरलैंड के स्टीफन राइखमुथ को 8-2 से हराया।

इससे पहले सेमीफाइनल में पहुंचने के साथ ही दीपक ने 2020 के टोक्यो में होने वाले ओलंपिक खेलों का टिकट हासिल कर लिया। उन्होंने क्वार्टरफाइनल में कोलंबिया के कार्लोस आर्टुरो मेंडेज को कड़े संघर्ष के बाद 7-6 से हराया था। मुकाबला खत्म होने के एक मिनट पहले तक दीपक 3-6 से पिछड़ रहे थे लेकिन उन्होंने शानदार वापसी कर यह मुकाबला 7-6 से जीता और सेमीफाइनल में जगह बनाई। अब उनका मुकाबला स्विट्जरलैंड के स्टीफन रेचमुथ से होगा।

राहुल को मिली हार

उधर पुरुषों के 61 किग्रा वर्ग में भारत के राहुल अवारे भी सेमीफाइनल तक पहुंचे थे, लेकिन सेमीफाइनल मुकाबले में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। राहुल अब कांस्य पदक के लिए उतरेंगे। सेमीफाइनल में राहुल को जॉर्जिया के बेको लोमताद्जे ने 10-6 से हराया। जॉर्जिया के पहलवान ने शुरुआती दौर में 4-0 की बढ़त ले ली थी, जो निर्णायक साबित हुई। हालांकि एक समय राहुल 2-8 से पिछड़ रहे थे, लेकिन उन्होंने अच्छी वापसी की। लेकिन वे मुकाबला जीत नहीं पाए।

इससे पहले राहुल ने क्वार्टरफाइनल में कजाकिस्तान के रसुल केलियेव को 10-7 से हराया। राहुल ने 0-2 से पिछड़ने के बाद 2-2 से बराबरी की और फिर 3-2 से आगे हो गए। उन्होंने 6-5 से बढ़त बनाई हुई थी और फिर मुकाबला जीता।

दीपक ने दूसरे दौर में कजाकिस्तान के एडिलेट दावलुम्बायेव को कड़े संघर्ष के बाद 8-6 से हराया। कजाकी पहलवान ने दीपक का जमकर प्रतिकार किया। दीपक ने इसके बाद प्री-क्वार्टरफाइनल में तजाकिस्तान के बखोदुर कोडिरोव को आसानी से 6-0 से हराकर अंतिम आठ में जगह बनाई।