Wrestlers vs WFI: खेल मंत्रालय ने भारतीय कुश्ती महासंघ के सहायक सचिव विनोद तोमर को निलंबित कर दिया है। दरअसल विनोद ने WFI अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के पक्ष में बयान दिया था। उन पर लगे आरोपों को निराधार बताया था।

बृजभूषण का पक्ष ले रहे थे तोमर

असिस्टेंट सेक्रेटरी विनोद तोमर ने कहा था कि धरने पर बैठे पहलवानों ने कोई सबूत पेश नहीं किया है। समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में तोमर ने कहा था कि आरोप निराधार हैं। मैं पिछले 12 सालों से बृजभूषण शरण सिंह के साथ जुड़ा हुआ हूं। मैंने कभी ऐसी घटना का आरोप नहीं देखे हैं।

WFI ने आरोपों को खारिज किया

WFI ने बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ लगे सभी आरोपों को खारिज कर दिया। कहा कि खेल निकाय में किसी भी तरह के कुप्रबंधन की गुंजाइश नहीं है। बता दें केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के साथ मुलाकात के बाद पहलवानों ने धरना प्रदर्शन समाप्त कर दिया। इस मामले की जांच के लिए समिति का गठन कर दिया गया है।

सात सदस्यीय समिति गठित

इससे पहले शुक्रवार शाम आइओए ने बृजभूषण पर लगे आरोपों की जांच के लिए एमसी मेरीकॉम की अध्यक्षता में सात सदस्यीय समिति गठित करने की घोषणा की। यह समिति आंतरिक शिकायत कमेटी है। यह किसी भी स्पोर्ट्स में महिलाओं से जुड़े मामलों की जांच करेगी।

Posted By: Kushagra Valuskar

  • Font Size
  • Close