लंदन (एजेंसी)। दुनिया की पूर्व नंबर एक महिला टेनिस खिलाड़ी चेक गणराज्य की कैरोलिना प्लिस्कोवा ने ताइवान की सीह सु वेइ को 6-3, 2-6, 6-4 से हराकर दूसरी बार विम्बल्डन के चौथे दौर में जगह बनाई।

महिला एकल के तीसरे दौर में तीसरी वरीय प्लिस्कोवा ने अपनी दमदार सर्विस का भरपूर फायदा उठाया और कुल 14 ऐस लगाए और कोर्ट वन पर एक घंटे 46 मिनट तक चले मुकाबले को अपने नाम किया। दोनों खिलाड़ियों ने मुकाबले की शुरुआत काफी मजबूती के साथ की, लेकिन प्लिस्कोवा ने 5-3 के स्कोर पर दुनिया के 16वें नंबर की महिला खिलाड़ी सीह की सर्विस को तोड़कर पहले सेट को अपने नाम किया। हालांकि, दूसरे सेट को सीह ने अपने नाम करके मुकाबले को बराबरी पर ला खड़ा किया। इसके बाद निर्णायक सेट में प्लिस्कोवा ने सीह की सर्विस को तोड़ते हुए मुकाबले को अपने नाम किया। अब प्लिस्कोवा का अगले दौर में मुकाबले हमवतन कैरोलिना मुचोवा से होगा, जिन्होंने एक अन्य मुकाबले में 20वीं वरीय एनेट कोंटावीट को 7-6, 6-3 से हराया।

वोज्नियाकी हुईं नाराज

दुुनिया की पूर्व नंबर एक खिलाड़ी डेनमार्क की कैरोलिना वोज्नियाकी को शुक्रवार को कोर्ट टू पर खेले गए तीसरे दौर के मुकाबले में चीन की झांग शुआई के खिलाफ 4-6, 2-6 से शिकस्त झेलनी पड़ी। हालांकि, एक समय वोज्नियाकी 4-0 से आगे चल रही थीं, लेकिन यहां से वह फिसल गईं। हालांकि, इस हार के लिए उन्होंने हॉक आई तकनीक के खिलाफ अपना असंतोष जाहिर किया। लाइन बॉल फैसले से निराश 28 वर्षीय वोज्नियाकी ने कहा कि मेरे हिसाब से कुछ शॉट अलग थे, लेकिन यह ऐसा ही है। आप हॉक आई के फैसले बदल नहीं सकते हैं। हालांकि, संभव है कि हॉक आई सही हो और मैंने गलत देख लिया।

प्री-क्वार्टर फाइनल में पहुंचे शरण

दिविज शरण ने विम्बल्डन में भारतीय चुनौती को बरकरार रखते हुए शुक्रवार को पुरुष युगल के प्री-क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई। शरण और ब्राजील के मार्सेलो डेमोलाइनर की जोड़ी ने सैंडर गिले और जोरान विलगेन की बेल्जियम की जोड़ी को तीन घंटे में 7-6, 5-7, 7-6, 6-4 से हराया। शरण का ग्रैंड स्लैम में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पिछले साल विम्बल्डन में ही आया था जब उन्होंने आर्टेम सिताक के साथ क्वार्टर फाइनल तक का सफर तय किया था। इससे पहले भी शरण ने ऑस्ट्रेलियन ओपन (2018), फ्रेंच ओपन (2017) और यूएस ओपन (2013) के तीसरे दौर में पहुंच चुके हैं। रोहन बोपन्ना, लिएंडर पेस, पूरव राजा और जीवन नेदुचेझियन पहले ही पुरुष युगल से बाहर हो गए हैं।