मैड्रिड (एजेंसी)। सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने एटीपी की ताजा विश्व रैंकिंग में अपना पहला स्थान कायम रखा है। ये रैंकिंग में सोमवार को जारी हुई। जोकोविच को हाल ही में समाप्त हुए फ्रेंच ओपन के सेमीफाइनल में ऑस्ट्रिया के डॉमिनिक थिएम के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि इसका उनकी रैंकिंग पर कोई असर नहीं पड़ा।

एटीपी की ताजा रैंकिंग में जोकोविच 12715 अंकों के साथ नंबर एक पर हैं। वहीं राफेल नडाल 7945 अंकों के साथ दूसरे स्थान और रॉजर फेडरर 6670 के साथ तीसरे स्थान पर हैं। वहीं फाइनल में नडाल के हाथों मात खाने वाले डॉमिनिक थिएम (4685) चौथे और जर्मनी के एलेक्जेंडर ज्वेरेव (4360) पांचवें स्थान पर हैं।

रिकॉर्ड 12वां फ्रेंच ओपन खिताब जीतने वाले स्पेन के राफेल नडाल एटीपी फाइनल्स के लिए क्वालीफाई करने के करीब पहुंच गए हैं। इस साल अभी तक 9 टूर्नामेंट में हिस्सा ले चुके नडाल ने कुल 5505 अंक हासिल किए हैं और एटीपी फाइनल्स की रेस में बने हुए हैं। साथ ही फ्रेंच ओपन की खिताबी जीत ने उन्हें नंबर एक की कुर्सी के करीब पहुंचा दिया है और वह साल का अंत शीर्ष स्थान पर करने के प्रबल दावेदार हैं। नडाल ने इससे पहले, 2008, 2010, 2013 और 2017 में साल का अंत पहले स्थान पर रहते हुए किया था। अपना 18वां ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने के साथ ही उन्होंने स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर के कुल 20 ग्रैंड स्लैम खिताब के अंतर को कम कर लिया है।

दूसरे स्थान पर पहुंचीं बार्टी

वहीं डब्ल्यूटीए की ताजा रैंकिंग में जापान की नाओमी ओसाका नंबर एक पर बनीं हुई हैं। उनके 6486 अंक हैं। उधर ऑस्ट्रेलिया की एश्ले बार्टी को फ्रेंच ओपन की खिताबी जीत का सबसे बड़ा लाभ मिला है और वे रैंकिंग में दूसरे स्थान पर पहुंच गई हैं। बार्टी के अब 6350 अंक हैं और वह अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग पर पहुंच गई हैं। फ्रेंच ओपन की खिताबी जीत के साथ उन्होंने 6 स्थान की बड़ी छलांग लगाई। एश्ले बार्टी ने फ्रेंच ओपन के फाइनल में चेक गणराज्य की माकेर्ता वोनड्रोउसोवा को सीधे सेटों में 6-1, 6-3 से हराया था। ये उनका पहला ग्रैंडस्लेम खिताब है। वहीं कैरोलिना प्लिस्कोवा (5685) तीसरे, किकी बर्टेंस (5345) चौथे और पेत्रा क्वितोवा 4952) पांचवें स्थान पर हैं। ताजा रैंकिंग में सबसे ज्यादा नुकसान पूर्व नंबर 1 रोमानिया की सिमोना हालेप को हुआ है। वे पांच स्थान लुढ़क गई हैं।

विम्बल्डन से पहले नहीं खेलेंगे नडाल

पेरिस। फ्रेंच ओपन चैंपियन राफेल नडाल ने कहा है कि वह विम्बल्डन से पहले कोई भी ग्रास कोर्ट अभ्यास टूर्नामेंट नहीं खेलेंगे। हालांकि उन्होंने उम्मीद जताई है कि वह लंदन में अपना तीसरा खिताब जीत सकते हैं। नडाल ने कहा कि सभी को पता है कि मुझे ग्रास कोर्ट पर खेलना पसंद है लेकिन मैं 10 साल पहले की तरह मैं कई सप्ताह तक लगातार नहीं खेल सकता इसलिए मैं विम्बल्डन से पहले नहीं खेलूंगा। नडाल घुटने की चोट की वजह से अपने करियर में परेशान रहे हैं जिसकी वजह से वह 2006 और 2016 के विम्बल्डन में नहीं खेल पाए थे। उन्होंने 2008 और 2010 में इस टूर्नामेंट का खिताब जीता है।