विम्बल्डन, लंदन (एजेंसी)। स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर का नाम उस समय विम्बल्डन टेनिस स्वर्णिम इतिहास में जुड़ गया जब उन्होंने यहां अपनी 100वीं जीत दर्ज की। फेडरर ने विम्बल्डन चैंपियनशिप में जापान के केई निशिकोरी को 4-6, 6-1, 6-4, 6-4 से हराते हुए सेमीफाइनल में जगह बनाई। ये विम्बल्डन में उनकी 100वीं जीत है और एक ग्रैंडस्लैम में 100 मैच जीतने वाले वे दुनिया के पहले खिलाड़ी बन गए।

दूसरी वरीयता प्राप्त फेडरर को हालांकि निशिकोरी के खिलाफ पहले सेट में हार का सामना करना पड़ा, लेकिन बाद में फेडरर ने वापसी करते हुए अगले दोनों सेट और मैच जीत लिया। अब सेमीफाइनल में उनकी टक्कर स्पेन के राफेल नडाल से होगी। तीसरी वरीय नडाल ने अमेरिका के सैम क्वेरी को 7-5, 6-2, 6-2 से हराया। अन्य मैचों में शीर्ष वरीय सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने 21वीं वरीय डेविड गॉफिन को 6-4, 6-0, 6-2 से पराजित किया।

फेडरर 13वीं बार विम्बल्डन के सेमीफाइनल में पहुंचे हैं। 37 साल की उम्र में वे किसी ग्रैंड स्लैम के अंतिम चार में पहुंचने वाले जिमी कोनर्स (1991, यूएस ओपन) के बाद सबसे बुजुर्ग हैं।

मैच के बाद फेडरर ने कहा- लोग हमेशा मेरे और नडाल के मैच को लेकर चर्चा करते हैं। राफा के खिलाफ उनके पसंदीदा कोर्ट पर फ्रेंच ओपन में खेलने में मजा आया था और अब मैं यहां उनके खिलाफ खेलने को लेकर उत्साहित हूं। वहीं नडाल ने कहा- यह मुश्किल मुकाबला होगा। विम्बल्डन में रोजर का सामना करने को तैयार हूं।