नई दिल्ली। फ्रेंच ओपन 2018 के फाइनल मुकाबले में दुनिया की नंबर एक टेनिस खिलाड़ी रोमानिया की सिमोना हालेप ने अमेरिका की स्लोन स्टीफंस को हराकर पहली बार फ्रेंच ओपन का खिताब अपने नाम किया। फाइनल मुकाबले के पहले सेट में सिमोना को स्टीफंस के हाथों हार का सामना करना पड़ा लेकिन बाद के दो सेटों में सिमोना ने स्टीफंस को आसानी से हरा दिया।

इस मुकाबले को सिमोना ने 3-6, 6-4, 6-1 से अपने नाम किया। 26 वर्षीय सिमोना ने अपने टेनिस करियर में पहली बार कोई ग्रैंड स्लैम खिताब अपने नाम किया। इसी वर्ष वो ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में पहुंची थीं लेकिन उन्हें उपविजेता बनकर संतोष करना पड़ा था।

सिमोना तीसरी बार फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंची थीं और इस बार उन्होंने अपनी विरोधी को कोई मौका नहीं देते हुए इस खिताब पर कब्जा किया। वहीं स्टीफंस पहली बार फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंची थीं। इससे पहले सिमोना वर्ष 2014 और 2017 में फ्रेंच ओपन का फाइनल मुकाबला खेल चुकी थीं लेकिन दोनो ही बार उन्हें निराश होना पड़ा और वो खिताब जीतने से वंचित रह गईं।

फाइनल मुकाबले से पहले सिमोना हालेप ने सेमीफाइनल मुकाबले में अपने पहले ग्रैंड स्लैम जीतने का सपना देख रहीं मुगुरुजा को निराश किया और उन्हें सीधे सेटों में 6-1, 6-4 से हरा दिया। हालेप ने इस जीत के साथ फ्रेंच ओपन के फाइनल में लगातार दूसरे वर्ष जगह बनाई थी।

वहीं फ्रेंच ओपन की दूसरी फाइनलिस्ट स्टीफंस ने पिछले वर्ष यूएस ओपन का खिताब जीता था और इस जीत के बाद उन्होंने काफी सुर्खियां बटोरी थीं। उन्होंने फ्रेंच ओपन के सेमीफाइनल में स्टीफंस ने अपनी ही देश की मेडिसन कीज को हराकर पहली बार इस ग्रैंड स्लैम के फाइनल में जगह बनाई है। सेमीफाइनल मुकाबले में स्टीफंस को कीज के खिलाफ जीत हासिल करने में ज्यादा परेशानी नहीं और दोनों के बीच चले एक घंटे 17 मिनट के मैच को उन्होंने सीधे सेटों में यानी 6-4, 6-4 से जीत हासिल की।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना