पेरिस। सर्बिया के स्टार खिलाड़ी नोवाक जोकोविच की निगाहें रविवार से शुरू हो रहे फ्रेंच ओपन टेनिच चैंपियनशिप में इतिहास रचने पर रहेगी। जोकोविच यदि खिताब जीतने में सफल होते हैं तो वे सभी चारों ग्रैंड स्लैम खिताब दो-दो बार जीतने वाले दुनिया के दूसरे टेनिस खिलाड़ी बन जाएंगे।

हालांकि वापसी कर रहे स्विट्जरलैंड के रॉजर फेडरर और स्पेनिश स्टार राफेल नडाल एक बार फिर जोकोविच की राह में रोड़ा बनने के लिए तैयार हैं। दुनिया के नंबर एक पुरुष खिलाड़ी जोकोविच ने 2016 में रोलां गैरां खिताब जीता था। पिछले साल जोकोविच ने विंबलडन और यूएस ओपन का खिताब जीता था जबकि इस साल जनवरी में उन्होंने अपना सातवां ऑस्ट्रेलियन ओपन का खिताब हासिल किया था।

20 बार के ग्रैंड स्लैम चैंपियन फेडरर और 17 बार के चैंपियन नडाल कुल खिताब के मामले में 15 बार के चैंपियन जोकोविच से आगे हैं। हालांकि इन तीनों में से कोई भी एक कैलेंडर वर्ष में चारों ग्रैंड स्लैम खिताब नहीं जीत पाया है। केवल डॉन बज (1938) और रॉड लेवर (1962 और 1969) ने एक कैलेंडर वर्ष में सभी चारों खिताब अपने नाम किए। जोकोविच को क्ले कोर्ट के महारथी नडाल से कड़ी चुनौती मिलने की संभावना है जो रिकॉर्ड 12वां फ्रेंच ओपन खिताब जीतने उतरेंगे।

इस बार जोकोविच अपने अभियान की शुरुआत पोलैंड के हबर्ट हुरकाज के खिलाफ करेंगे। उनका क्वार्टर फाइनल में जर्मनी के एलेक्जेंडर ज्वेरेव से मुकाबला हो सकता है। उधर 2015 के बाद पहली बार फेडरर फ्रेंच ओपन खेल रहे हैं। उन्होंने 10 साल पहले फ्रेंच ओपन खिताब जीता था। यदि वे इस बार जीते तो यह खिताबी जीत उन्हें सर्वकालिक सबसे बुजुर्ग ग्रैंड स्लैम चैंपियन बना देगी। फेडरर इटली के लॉरेंजो सोनेगो के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करेंगे और सेमीफाइनल में नडाल से भिड़ सकते हैं। वहीं 11 बार के चैंपियन नडाल अपने पहले मुकाबले में जर्मन क्वालीफायर यानिक हाफमैन से भिड़ेंगे। यानिक अब तक एक भी ग्रैंड स्लैम मुकाबला नहीं जीत पाए हैं। वहीं इस टूर्नामेंट में फ्रांस के स्थानीय खिलाड़ियों पर भी निगाहें होंगी।

Posted By: Kiran Waikar