बासेल (स्विट्जरलैंड)। जिस कोर्ट में बॉल बॉय के तौर पर सफर शुरू किया वहीं ऐतिहासिक उपलब्धि दर्ज की। जी हम बात कर रहे हैं स्विटजरलैंड के स्टार और दिग्गज टेनिस खिलाड़ी रॉजर फेडरर की। फेडरर ने रविवार को स्विस ओपन इंडोर चैंपियनशिप में ऐतिहासिक जीत हासिल की।

20 बार के ग्रैंड स्लेम चैंपियन फेडरर ने फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के एलेक्स डी मिनाएर को सीधे सेट में 6-2, 6-2 से हराया। फेडरर ने रिकॉर्ड 10वीं बार ये टूर्नामेंट जीता है। इसके अलावा फेडरर ने टूर्नामेंट में लगातार 24वीं और अपनी 75वीं जीत दर्ज की। ये फेडरर के करियर का 103वां एकल खिताब है।

38 वर्षीय फेडरर ने बासेल ओपन में हुए इस टूर्नामेंट में घरेलू दर्शकों के बीच जबर्दस्त खेल दिखाया। उन्होंने 20 वर्षीय एलेक्स को कोई मौका नहीं दिया और आसान जीत दर्ज की। बता दें कि बासेल फेडरर का घरेलू मैदान हैं और यहीं से वे टेनिस से जुड़े। 26 साल पहले उन्होंने बतौर बॉल बॉय यहां जुड़े।1993 में इस टूर्नामेंट में फेडरर ने बॉल बॉय की भूमिका निभाई थी। इसी दौरान उन्होंने टेनिस को अपनाया और टेनिस जगत पर राज किया। उनके लिए ये बेहद खास मौका है क्योंकि इसी टूर्नामेंट को उन्होंने रिकॉर्ड 10 बार जीता है। इस जीत से फेडरर 4 लाख 30 हजार डॉलर का पुरस्कार मिला। इसके अलावा उन्होंने 500 एटीपी रैंकिंग अंक भी मिलेंगे।

फेडरर अब जिम्मी कॉनर्स के 109 एटीपी खिताब जीतने के रिकार्ड से 6 खिताब दूर हैं। फेडरर अगले सप्ताह पेरिस मास्टर्स में खेलने उतरेंगे जबकि 10 नवंबर से लंदन में होने वाले एटीपी फाइनल्स में खेलेंगे।

इस जीत के बाद फेडरर भावुक हो गए। उन्होंने इसे अविश्वसनीय पल बताते हुेए कहा- एक बॉल ब्वाय के तौर पर मुझे काफी प्रेरणा मिली। मुझे यकीन नहीं हो रहा कि मैंने यहां 10 खिताब जीते हैं। दो दशक पहले सेंट जेकबसेले में मैं एक बॉल बॉय के तौर पर जुड़ा था। इसी दौरान मेरी टेनिस में रुचि बढ़ी। मैंने तो यहां एक बार भी चैंपियन बनने की बात नहीं सोची थी लेकिन अब मुझे विश्वस नहीं हो रहा।

Posted By: Rahul Vavikar

fantasy cricket
fantasy cricket