न्यूयॉर्क। US Open 2019: भारत के सुमित नागल ने शुक्रवार को साल के अंतिम ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट यूएस ओपन टेनिस चैंपियनशिप के मुख्य दौर में प्रवेश कर लिया। नागल ने पात्रता दौर के अंतिम मैच में ब्राजील के जाओ मेंजेस को तीन सेटों में हराया। अब पहले दौर में उनका मुकाबला दुनिया के तीसरे क्रम के रॉजर फेडरर से होगा।

190वें क्रम के भारतीय खिलाड़ी नागल ने पात्रता चरण के अंतिम मैच में मेंजेस को 5-7, 6-4, 6-3 से हराया। वे इसी के साथ पिछले 25 सालों में किसी ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट के मुख्य दौर में प्रवेश पाने वाले सबसे युवा भारतीय खिलाड़ी बन गए। 25 वर्षीय नागल को सोमवार से शुरू हो रहे टूर्नामेंट में अब फेडरर से भिड़ना होगा। पूर्व जूनियर विम्बल्डन चैंपियन नागल पहला सेट 5-7 से हार गए। ब्राजीली खिलाड़ी ने दूसरे सेट में भी 4-1 की बढ़त बना ली थी लेकिन इसके बाद नागल ने शानदार वापसी की। उन्होंने इसके बाद लगातार पांच गेम जीतते हुए यह सेट 6-4 से जीतकर मैच में 1-1 की बराबरी की। मैच में बराबरी के बाद नागल ने पीछे मुड़कर नहीं देखा और निर्णायक सेट को 6-3 से जीतते हुए मुख्य दौर में जगह बनाई। उन्होंने इससे पहले पात्रता चरण में उच्च रैटेड जापान के तात्सुम इटो और पौलेंड के पीटर पोलांस्की को सीधे सेटों में हराया था।

इससे पहले भारत के प्रजनेश गुणेश्वरन ने भी मुख्य दौर की पात्रता हासिल की। उनका सोमवार को पहले दौर में सिनसिनाटी मास्टर्स के विजेता दानिल मेदवेदेव से मुकाबला होगा। उन्होंने इससे पहले ऑस्ट्रेलियन ओपन के भी मुख्य दौर में प्रवेश किया था। 1998 के बाद यह पहला मौका है जब दो भारतीय खिलाड़ियों ने ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट में पुरुषों के सिंगल्स के मुख्य दौर में प्रवेश किया। 1998 में विम्बल्डन में महेश भूपति और लिएंडर पेस ने सिंगल्स में हिस्सा लिया था।