लंदन। शीर्ष वरीयता प्राप्त नोवाक जोकोविच ने रविवार को पांच सेटों के कड़े संघर्ष में दूसरे क्रम के रॉजर फेडरर को हराकर विम्बल्डन टेनिस चैंपियनशिप के पुरुष एकल खिताब पर कब्जा जमाया। जोकोविच ने यह खिताबी मुकाबला 7-6 (5), 1-6, 7-6 (4), 4-6, 13-12 (3) से हराया। यह जोकोविच का पांचवां विम्बल्डन खिताब है और उन्होंने खिताब पर कब्जा बरकरार रखा। उन्होंने पांचवां और निर्णायक सेट सुपर टाइब्रेकर में जीता। यह मुकाबला 4 घंटे 57 मिनट चला और यह विम्बल्डन के इतिहास का सबसे लंबा फाइनल है।

जोकोविच का यह 16वां ग्रैंड स्लैम खिताब है। दूसरी तरफ फेडरर दो चैंपियनशिप पाइंट गंवाने की वजह से अपने नौवें विम्बल्डन खिताब से वंचित रहे। यह विम्बल्डन का सबसे लंबा फाइनल रहा, 2008 में फेडरर और नडाल के बीच हुए खिताबी मुकाबले से भी यह 9 मिनट ज्यादा चला।

दो दिग्गज खिलाड़ियों के बीच पहला सेट बहुत रोमांचक रहा और दोनों खिलाड़ियों ने 6-6 के स्कोर तक अपनी सर्विस बरकरार रखी। पहले सेट का फैसला टाइब्रेकर में गया, जहां जोकोविच ने बाजी मारते हुए इस 8-6 से जीता पहला सेट 7-6 (6) से अपने नाम किया। पहला सेट हारने के बाद फेडरर ने शानदार वापसी की और अगले सेट में शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने इस सेट को एकतरफा अंदाज में 6-1 से जीतकर मैच में 1-1 की बराबरी कर ली।

जोकोविच तीसरे सेट में फिर लय में आए और उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया। दोनों खिलाड़ियों ने इस सेट में अपनी-अपनी सर्विस बरकरार रखा और इस सेट का फैसला भी टाइब्रेकर में गया। टाइब्रेकर में एक बार फिर जोकोविच भारी साबित हुए और उन्होंने इसे 7-4 से अपने नाम किया। 1-2 से पिछड़ने के बाद फेडरर ने चौथे सेट में शानदार खेल दिखाया और देखते ही देखते 5-2 की बढ़त बना ली। इसके बाद जोकोविच ने वापसी की कोशिश की और अगले दो गेम जीते लेकिन फेडरर ने दसवें गेम को जीत इस सेट पर 6-4 से कब्जा जमाते हुए मैच में 2-2 की बराबरी कर ली।

निर्णायक सेट में जोकोविच ने छठे गेम में फेडरर की सर्विस भंग कर सेट में 4-2 की बढ़त बनाई लेकिन फेडरर ने अगले गेम में जोकोविच की सर्विस भंग कर स्कोर 3-4 कर दिया। फेडरर ने अगला गेम में सर्विस बरकरार रखते हुए स्कोर 4-4 कर दिया। जोकोविच ने नौवां गेम जीत मैच में 5-4 की बढ़त बनाई। फेडरर ने 15वें गेम में जोकोविच की सर्विस भंग कर 8-7 की बढ़त बनाई लेकिन जोकोविच ने अगले गेम में उनकी सर्विस भंग कर 8-8 की बराबरी कर ली। उन्होंने इस गेम में दो चैंपियनशिप पाइंट बचाए। नई प्रणाली के तहत 12-12 के स्कोर पर सुपर टाईब्रेकर करवाया गया और इसमें जोकोविच ने बाजी मारते हुए खिताब अपने नाम किया।

इससे पहले फेडरर ने सेमीफाइनल में तीसरे क्रम के स्पेन के राफेल नडाल को 7-6 (3), 1-6, 6-3, 6-4 से हराकर 12वीं बार इस चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बनाई थी जबकि जोकोविच ने 23वें क्रम के एगुट को कड़े संघर्ष के बाद 6-2, 4-6, 6-3, 6-2 से हराकर छठी बार इस चैंपियनशिप के खिताबी मुकाबले में प्रवेश किया था। फाइनल तक के सफर में जोकोविच ने मात्र दो सेट गंवाए जबकि फेडरर तीन सेट गंवा चुके हैं।

फेडरर ने परंपरागत प्रतिद्वंद्वी नडाल को हराने के लिए शानदार प्रदर्शन किया था लेकिन यदि उन्हें जोकोविच को हराना है तो इससे भी बेहतर प्रदर्शन करना होगा। पिछले चार में से तीन ग्रैंड स्लैम खिताब जोकोविच ने जीते हैं जबकि फेडरर ने अपना अंतिम ग्रैंड स्लैम खिताब 2018 में ऑस्ट्रेलियन ओपन के रूप में जीता था।