लंदन। Wimbledon to receive Rs 1071 crore: कोरोना वायरस की वजह से Wimbledon 2020 को रद्द किया जा चुका है। इसके बावजूद इसके आयोजक ऑल इंग्लैंड क्लब को महामारी बीमा की वजह से 141 मिलियन डॉलर (1071 करोड़ रुपए) मिलेंगे। ग्रैंड स्लैम टेनिस चैंपिनयशिप Wimbledon के आयोजक पिछले 17 सालों से वैश्विक महामारी के खिलाफ बीमा करा रहे थे और उन्हें इस साल इसका लाभ मिला। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार आयोजक हर साल इसके लिए 2 मिलियन डॉलर चुकाते थे। विम्बल्डन ने SARS महामारी के बाद साल 2003 से वैश्विक महामारी बीमा करना शुरू किया था।

विम्बल्डन का आयोजन इस साल 29 जून से 12 जुलाई तक होना था लेकिन कोरोना वायरस महामारी के चलते इसे पिछले सप्ताह रद्द कर दिया गया था। ऑल इंग्लैंड क्लब ने बयान के जरिए अफसोस जारी करते हुए विम्बल्डन 2020 के रद्द होने की घोषणा की थी। दूसरे विश्व युद्ध के बाद यह पहला मौका है जब विम्बल्डन को रद्द किया गया है। इससे पहले ऐसी मांग उठी थी कि इसे खाली स्टेडियमों (बिना दर्शकों के) में आयोजित किया जाए लेकिन आयोजन समिति ने खिलाड़ियों और इस टूर्नामेंट से जुड़े लोगों के स्वास्थ्य के मद्देनजर इसे रद्द करने का फैसला किया। अब अगले साल इसका आयोजन 28 जून से 11 जुलाई तक होगा।

विम्बल्डन 2020 रद्द होने से आयोजकों को 2400 करोड़ रुपए का नुकसान होने का अनुमान है लेकिन इस इंश्योरेंस की वजह से उन्हें काफी कुछ रकम हासिल हो जाएगी। आयोजन समिति के प्रमुख रिचर्ड लुईस ने कहा कि इंश्योरेंस की राशि मिलने के बावजूद ऑल इंग्लैंड क्लब के लिए इस नुकसान को सहन करना आसान नहीं होगा। उन्होंने कहा, हम भाग्यशाली है कि हमने इसका महामारी के खिलाफ इंश्योरेंस करवा रखा था लेकिन इससे सारी समस्याओं का समाधान नहीं होगा।

साल के दूसरे ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट फ्रेंच ओपन के आयोजकों ने टूर्नामेंट को रद्द करने की बजाए उसे स्थगित किया था। फ्रेंच ओपन को अब यूएस ओपन खत्म होने के एक सप्ताह बाद आयोजित किया जाएगा।

Posted By: Kiran K Waikar