नौकरी और शिक्षा के लिए अक्सर लोगों को अपने गांव छोड़ दूसरे शहर जाना पड़ता है। ऐसे में बचपन की तमाम यादें और जानकारी नहीं पहुंच पाती है। अब इनयूनि एप मदद करेगा। नोएडा स्थिति एमिटी इंक्यूबेटर सेंटर में रीजनल और सिटी कंटेंट प्लेटफॉर्म इनयूनि लोगों को एक दूसरे से जोड़ने और अपने जमीन से जुड़ने में सहायता कर रहा है। इस कंपनी की शुरुआत आशुतोष सिंह, अब्दुल्ला हक और शशांक शेखर राय है। जल्द ही गैर हिंदी क्षेत्रों में भी प्रवेश रखने वाले हैं।

इनयूनि के सह-संस्थापर शशांक शेखर राय ने कहा कि नौकरी करते हुए, यह महसूस हुआ कि अपना बिजनेस शुरू करूं। किसान परिवार के कारण पहले कृषि व्यापार करने का सोचा था। हालांकि संसाधनों की कमी और जिम्मेदारियों के कारण ऐसा नहीं हो सका। शशांक ने एक मार्केटिंग एजेंसी शुरू की, लेकिन चार साल बाद उसे बेच दिया। राय ने बताया कि मैंने देखा बहुत से लोग नौकरी के कारण अपने घर से दूर रहते हैं। इससे उन्हें अपने शहरों की न्यूज नहीं मिल पाती। तब हमने स्थानीय कंटेंट को ध्यान में रखते हुए इनयूनि की शुरुआत की।

शशांक ने कहा कि हम यूजर्स को इंगेज करने के लिए एक-दूसरे से जोड़ते हैं। हमारे एप पर समाचार, वीडियो, सरकारी घोषणाओं सहित कई जानकारी मिलती है। उन्होंने कहा कि सफतला में टीम की अहम भूमिका होती है। ऑफिस में खुला माहौल है। कर्मचारियों के लिए दफ्तर पहुंचने का कोई निर्धारित समय नहीं है।

Posted By: Navodit Saktawat