PUBG मोबाइल गेम का इंडियन वर्जन बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया इसी साल की शुरुआत में भारत में लॉन्च हुआ था। पबजी के फैंस के लिए यह बहुत अच्छी खबर थी और इसके बाद से पबजी के खिलाड़ी आसानी से यह गेम खेल पा रहे हैं, लेकिन छोटी से गलती करने पर इन खिलाड़ियों का अकाउंट बैन किया जा सकता है। BGMI की पैरेंट कंपनी क्राफ्टन ने एक बयान जारी कर बताया है कि अगर कोई गेमर इनवैलिड प्रोग्राम का इस्तेमाल करते हुए पाया जाता है, तो उसका अकाउंट डिलीट किया जा सकता है। इसके साथ ही साउथ कोरियन गेम डेवलपर कंपनी ने उन सभी गतिविधियों की डिटेल दी है, जो गेम के अंदर इनवैलिड एक्टिविटी में शामिल हैं।

कंपनी ने बताया कि इनवैलिड एक्टिविटी की जांच पहली बार 15 सितंबर को शुरू हुई थी। कंपनी ने कहा, "हाल ही में नए प्रकार के इनवैलिड प्रोग्राम्स और एक्टिविटीज की पहचान की गई है और इसे लेकर उपाय किए जाएंगे। अगर कुछ भी इनवैलिड पाया जाता है तो गेमर के अकाउंट के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए कंपनी ने सॉफ्टवेयर इंस्टाल किया है।"

सभी खिलाड़ियों को चिंता करने की जरूरत नहीं

कंपनी ने यह भी कहा है कि सभी खिलाड़ियों को चिंता करने की जरूरत नहीं है। अलग-अलग वजहों से उन्हें हाईलाइट किया जा सकता है, लेकिन जो खिलाड़ी कोई भी गलत प्रोग्राम का इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं, उन्हें चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। कंपनी की तरफ से कहा गया “अगर आपने इनवैलिड प्रोग्राम का इस्तेमाल नहीं किया है और आपके फोन में अलर्ट मैसेज पॉप अप होता है, तो परेशान न हों और डेटा को वापस सामान्य करने के लिए लॉगिन स्क्रीन में रेगुलर रिपेयर के साथ आगे बढ़ें।”

ये काम करने पर बैन हो जाएगा BGMI अकाउंट

कैसे रिकवर होगा अकाउंट

एक बार जब आपके अकाउंट में एक इनवैलिड एक्टिविटी देखी जाती है, तो बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया रेगुलर रिपेयर वर्क करेगा। यह अकाउंट को रिस्टोर करने का एकमात्र तरीका है। क्राफ्टन ने कहा, “लॉबी के निचे दाएं कोने में एरो पर टैप करें> सेटिंग> बेसिक> नीचे बाएं कोने में लॉग आउट टैप करें> लॉगिन स्क्रीन में रिपेयर टैप करें> रेगुलर रिपेयर करें और ठीक से जांच करें।” डेटा नॉर्मल होने के बाद, आप अपने अकाउंट में वापस लॉग इन कर सकते हैं और हमेशा की तरह खेल सकते हैं। अगर आप गाइडलाइंस को फॉलो नहीं करते हैं और इनवैलिड एक्टिविटीज जारी रखते हैं तो आपका अकाउंट बैन हो सकता है।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close