नई दिल्ली। व्हाट्स ऐप से जुड़े एक नए खतरे से मोबाइल यूजर्स को आगाह किया गया है। हैकर्स किसी भी GIF फाइल के जरिए वायरस भेजकर मोबाइल का डाटा हैक कर सकते हैं। द नेक्स्ट वेब की रिपोर्ट के अनुसार, इस व्हाट्स ऐप बग पर रिसर्च हो रहा है, लेकिन अभी खतरा बरकरार है। यूजर्स को सलाह दी गई है कि वे किसी अन्जान सोर्स से मिली GIF इमेज को ओपन न करें।

इस बग को डबल फ्री बताया गया है। यह सीधा फोन की मेमोरी पर अटैक करता है। यानी इसके हमले से एप्लिकेशन क्रैश हो सकती है या अटैकर्स के हाथ पूरे मोबाइल का डाटा लगा सकता है, जिसका वे दुरूपयोग कर सकते हैं। GitHub में प्रकाशित एक पोस्ट के अनुसार, यह बग व्हाट्स ऐप के गैलरी व्यू पर अटैक करता है, जिससे फोटो, वीडियो और GIF का प्रिव्यू हासिल किया जाता है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि यह GIF मोबाइल में सेव होने के बाद यूजर्स द्वारा ओपन किए जाने का इंतजार करती है। यूजर्स जैसे ही इसे खोलता है, उसका मोबाइल हैक हो जाता है। शोधकर्ताओं ने लिखा है कि व्हाट्स ऐप वर्जन 2.19.230 में इसका खतरा ज्यादा है। व्हाट्स ऐप वर्जन 2.19.244 में इस जोखिम को खत्म कर दिया गया है।

यह बग Android 8.1 और Android 9.0 OS पर भी अटैक करता है, लेकिन Android 8.0 और उससे नीचे के वर्जन वाले यूजर्स सुरक्षित हैं। पुराने Android संस्करणों में डबल-फ्री अभी भी ट्रिगर किया जा सकता है। हालांकि, डबल-फ्री के बाद सिस्टम द्वारा मॉलॉक कॉल के कारण ऐप क्रैश हो जाता है और इस कारण पीसी रजिस्टर को कंट्रोल नहीं किया जा सकता है।

यह पहली बार नहीं है कि व्हाट्स ऐप पर डाटा सुरक्षा और गोपनीयता सुविधाओं के बारे में चिंताएं जताई गई हैं। इस साल की शुरुआत में एक रिपोर्ट में दावा किया गया था कि फेसबुक के स्वामित्व वाले इस मैसेजिंग ऐप में हैकर्स ने डिवाइस पर स्पाइवेयर भेजकर उसे हैक करने की कोशिश की है। हालांकि, यह मामला सामने आने के बाद व्हाटएस ऐप ने कहा कि उस समस्या को हल कर लिया गया है, लेकिन यह नहीं बताया कि यह बग क्या था और कैसे अटैक कर पाया।

Posted By: Arvind Dubey